आजम खान पर नई आफत! 2007 के एक जातिसूचक शब्दों से अपमानित करने के मामले में फंसने वाले हैं?

समाजवादी पार्टी के सीनियर ली़डर आजम खान के विरुद्ध दर्ज जातिसूचक शब्दों से अपमानित करने के केस में अदालत में सुनवाई हुई। इस केस में रिटायर्ड नायब तहसीलदार गुलाब सिंह की गवाही पूरी हो गई है।

0
425

आजम खान पर नई आफत

एक नए केस में सजा की आशंका

जातिसूचक शब्दों से अपमानित करने का मामला

AIN NEWS 1: समाजवादी पार्टी के सीनियर ली़डर आजम खान के विरुद्ध दर्ज जातिसूचक शब्दों से अपमानित करने के केस में अदालत में सुनवाई हुई। इस केस में रिटायर्ड नायब तहसीलदार गुलाब सिंह की गवाही पूरी हो गई है। अब अगली सुनवाई 9 नवंबर को होगी। जातिसूचक टिप्पणी करने की ये घटना 2007 के विधानसभा चुनाव की है। तब आजम खान ने चुनाव प्रचार के दौरान टांडा कोतवाली क्षेत्र में जनसभा की थी।

मात्र 17 साल की लड़की हो गई प्रेग्नेंट, डिलीवरी हुई तो नवजात को सड़क पर फेंका, लडकी की मां अरेस्ट

जनसभा में जातिसूचक टिप्पणी का आरोप

आजम खान पर जनसभा में जातिसूचक टिप्पणी करने का आरोप है। तब बसपा नेता धीरज शील की तरफ से आजम खान पर एससी-एसटी कानून की धारा में केस दर्ज कराया गया था। इस मामले में मुकदमे के वादी का निधन हो चुका है। केस की सुनवाई एमपी-एमएलए अदालत में चल रही है। कोर्ट ने 31 अक्टूबर 2021 को आजम खान पर आरोप तय कर दिए थे। मुकदमा गवाही पर आ गया है। शनिवार को आजम खान के खिलाफ इस मामले में सुनवाई हुई। अभियोजन की तरफ से तत्कालीन नायब तहसीलदार गुलाब सिंह को गवाही के लिए कोर्ट बुलाया गया।

गुलाब सिंह ने कोर्ट में बयान दर्ज कराया

गुलाब सिंह ने अदालत में अपने बयान दर्ज कराए। बचाव पक्ष के वकील ने उनसे बहस की। सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता अमित कुमार सक्सेना ने बताया कि रिटायर्ड नायब तहसीलदार की गवाही पूरी हो गई है। अब कोर्ट इस मामले में नौ नवंबर को सुनवाई करेगा। इस मामले में अब तक नौ गवाह अदालत में पेश हो चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here