इन दिनों की बेहद चर्चित खबर सीमा हैदर से अब यूपी ATS की पूछताछ हुई पूरी, पाकिस्तान भेजा जायेगा या नहीं ये फैसला ग्रह विभाग लेगा!

0
688

AIN NEWS 1: आज कल बेहद चर्चित खबर सीमा हैदर और उसके प्रेमी सचिन मीणा से अब यूपी एटीएस (UP ATS) की अभी तक की पूछताछ लगभग पूरी हो गई है. इसके साथ ही इन दोनों से सेंट्रल एजेंसियों ने भी अपनी पूछताछ की है. इस पूछताछ के दौरान यूपी एटीएस को तो सीमा हैदर के जासूसी के जुड़े कोई सबूत अभी तक नहीं मिले हैं. तो अब एटीएस अपनी इस जांच की पूरी रिपोर्ट यूपी के गृह विभाग को भेजेगी. इसके बाद ही सरकार सीमा हैदर और उसके चार बच्चों को पाकिस्तान डिपोर्ट करने या ना करने की कार्रवाई पर अपना फैसला लेगी. लखनऊ से यह पूरी कार्रवाई एसएसपी एटीएस अभिषेक सिंह की टीम ने पूछताछ कर पूरी की है.

वहीं, इस मामले में यूपी पुलिस के स्पेशल डीजी प्रशांत कुमार ने सीमा हैदर और सचिन से जुड़ी डिटेल भी जारी की है. कहा तो यह जा रहा है कि सीमा हैदर के द्वारा अपने चार बच्चों के साथ अवैध रूप से भारत में घुसने पर पुलिस द्वारा यह कार्रवाई की जा रही है. जान ले सीमा के पास से दो वीडियो कैसेट, 4 मोबाइल फोन, 5 पाकिस्तानी अधिकृत पासपोर्ट और एक ऐसा भी पासपोर्ट मिला है जिसमें आधार और नाम नहीं है. जिनकी पूरी जांच की जा रही है.

इससे पहले नेपाल में मिले, होटल में भी साथ रहे थे सचिन और सीमा

पहली बार तो यह सीमा हैदर 15 दिन के टूरिस्ट वीजा पर ही पाकिस्तान से निकली थी. 10 मार्च 2023 को यह पाकिस्तान के कराची एयरपोर्ट गई फिर वहां से यह शारजाह एयरपोर्ट आई थी. इसके बाद ही यह नेपाल के काठमांडू एयरपोर्ट पहुंची थी. ओर फिर 17 मार्च को इसी रूट से नेपाल से यह वापस चलकर 18 मार्च को पाकिस्तान कराची एयरपोर्ट पर पहुंच गई थी.

वहीं, उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा का रहने वाला सीमा का प्रेमी सचिन मीणा 8 मार्च 2023 को ही परी चौक गौतमबुद्धनगर से चलकर गोरखपुर पहुंचा था. 9 मार्च को यह गोरखपुर से सोनाली बॉर्डर होते हुए काठमांडू नेपाल के लिए निकला था. यह 10 मार्च की सुबह ही काठमांडू पहुंचा था. इसके बाद ये दोनो सीमा और सचिन न्यू बस अड्डा पार्क के पास में ही न्यू विनायक होटल में एक रूम में एक साथ ही रुके थे.

जांच में सामने आया यूं हुई सीमा और सचिन की मुलाकात

यूपी पुलिस ने इस मामले में बताया है कि सचिन मीणा और पाकिस्तानी महिला सीमा गुलाम हैदर दोनो ही ऑनलाइन गेम PUBG के माध्यम से साल 2020 में ही एक दूसरे के संपर्क में आए थे. लगभग 15 दिन की मुलाकात में दोनों ने अपने मोबाइल नंबर भी एक्सचेंज किए थे और फिर उनके बीच में व्हाट्सएप पर काफ़ी बातचीत शुरू हो गई थी. दोनो ने ही नंबर शेयर किए थे और व्हाट्सएप ऐप पर एक दूसरे से बात करने लगे थे.

इसके बाद अपने बच्चों को लेकर पाकिस्तान से ही नेपाल होते हुए भारत पहुंची थी सीमा हैदर

इसके बाद दूसरी बार सीमा हैदर 10 मई 2023 को ही 15 दिन के टूरिस्ट वीजा पर पाकिस्तान से अपने चारों बच्चों को अपने साथ ले कर नेपाल के लिए निकली. वह वहा से हवाई यात्रा कर कराची पहुंची फिर वह कराची से काठमांडू आई. यहां से 11 मई की सुबह ही वह काठमांडू (नेपाल) पहुंची. सीमा अपने चारों बच्चों को लेकर ही बस से पोखरा पहुंची. यहां एक होटल में किराए का कमरा लेकर वह रात भर रुकी.

इसे भी पढ़े 

Morning News Brief : ₹70/किलो बिकेगा आज टमाटर ; महाकाल की सवारी के दौरान थूकने वाले का घर ढहाया; सीमा हैदर के पास से दो पासपोर्ट बरामद; I.N.D.I.A के खिलाफ शिकायत दर्ज 

 

Morning News Brief : ₹70/किलो बिकेगा आज टमाटर ; महाकाल की सवारी के दौरान थूकने वाले का घर ढहाया; सीमा हैदर के पास से दो पासपोर्ट बरामद; I.N.D.I.A के खिलाफ शिकायत दर्ज

उसके बाद 12 मई को सुबह अपने चारों बच्चों के साथ ही पोखरा से बस से जनपद सिद्धार्थनगर (रूपनडेडी-खुनवा बॉर्डर) से उसने भारत में प्रवेश किया. यहां से ही लखनऊ-आगरा होते हुए गौतमबुद्धनगर (नोएडा) के बस स्टैंड पर वह उतरी. सीमा के प्रेमी सचिन मीणा ने वहा पहले से ही ग्रेटर नोएडा के रबूपुरा में एक किराए का कमरा ले रखा था. तब से ही सीमा अपने चारों बच्चों और सचिन के साथ मे इसी किराए के घर में रह रही है.

जान ले पाकिस्तान में गुलाम हैदर हर महीने भेजता था 80 हजार रुपए

 

इस मामले में यूपी पुलिस का कहना है कि पूछताछ में यह भी सामने आया है कि सीमा हैदर का पति पाकिस्तान में गुलाम हैदर जो 2019 में काम करने के लिए ही सऊदी अरब गया था. वह सीमा हैदर को खर्च के लिए 70-80 हजार रुपए महीने के भेजता था. मकान का किराया, बच्चों की स्कूल फीस, घर खर्च के बाद भी सीमा 20-25 हजार रुपए की हर महीने बचत करती थी. उसने अपने गांव में ही 1 लाख रुपए की 20 महीने की 2 कमेटी (लोगों के समूह द्वारा पैसे जोड़े जाना) भी डाली हुई थी.साल 2021 में ही इन दोनों कमेटियों के खुलने के बाद सीमा को उनसे 2 लाख रुपए मिले. इस तरह से उसका साल का 4 से 5 लाख रुपए सालाना बच जाता था. सीमा अपनी बचत का यह सारा पैसा अपने मकान मालिक की बेटी के पास में रखती थी. उसे एक लाख रुपए हैदर के पिता ने भी भेजे थे. इसके अतिरिक्त भी उसने बताया के एक बार हैदर ने ढाई लाख सऊदी से एक साथ ही सीमा को भेजे थे. उसने अपने रिश्तेदारों की मदद से एक लाख 20 हजार रुपए से एक 39 गज का मकान सीमा ने अपने नाम से भी खरीद लिया था. 3 महीने बाद जनवरी 2022 में इस मकान को सीमा ने 12 लाख रुपए मे मकान बेच दिया था, क्योंकि उसे वहा से भारत सचिन के पास आना था.

सूत्रों की माने तो अभी तक नहीं मिले जासूस होने के सबूत

यूपी पुलिस का साफ़ कहना है कि अभी तक पूछताछ और जांच पड़ताल में उन्हे सीमा हैदर के पाकिस्तानी जासूस होने के कोई सबूत नहीं मिले हैं. लेकीन जांच अभी जारी है. फिलहाल तो यह पूरा मामला प्रेम-प्रसंग का लग रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here