उपराष्ट्रपति चुनाव में हार के बाद विपक्षी दलों को सुनाई खरी खोटी मार्गरेट अल्वा, कही ऐसी बात

0
277

Ainnews1.com : उपराष्ट्रपति चुनाव का परिणाम शनिवार शाम को घोषित हुआ और एनडीए उम्मीदवार जगदीप धनखड़ को विजयी घोषित कर दिया गया. अब जगदीप धनखड़ भारत के अगले उपराष्ट्रपति होंगे. जगदीप धनखड़ ने विपक्ष की उम्मीदवार मार्गरेट अल्वा को बड़े अंतर से उपराष्ट्रपति चुनाव में मात दी है।. चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद मार्गरेट अल्वा ने हार का ठीकरा विपक्षी दलों पर फोड़ा और उन्हें खरी खोटी सुनाई . मार्गरेट अल्वा ने कहा कि कुछ विपक्षी दलों ने भी एनडीए उम्मीदवार का समर्थन किया है . हालांकि, उन्होंने एनडीए के विजयी उम्मीदवार को उपराष्ट्रपति चुनाव में जीत की बधाई देते हुऐ . कहा
लोकतंत्र की मजबूती के लिए संघर्ष जारी रहेगा।

भारतीय किसान यूनियन (टिकेट) कार्यकर्ताओं ने एसडीएम महोदय को सौंपा ज्ञापन मकान की छत के मध्य से जा रही बिजली लाइन को हटवाने के सम्बंध में

हार के बाद मार्गरेट अल्वा ने कहा कि अब चुनाव संपन्न हो गया है. हमारे संविधान की रक्षा करने के लिए, लोकतंत्र को मजबूत बनाने के लिए और संसद की गरिमा बहाल करने के लिए संघर्ष जारी रहेगा ही. इसके बाद उन्होंने विपक्ष के सभी नेताओं और इस चुनाव में उनको वोट देने वाले सभी पार्टियों के सांसदों को धन्यवाद भी दिया उन्होंने कहा कि चुनाव विपक्ष के लिए एक साथ काम करने, अतीत की बातों को पीछे छोड़ने और एक-दूसरे के बीच भरोसा बनाने का मौका होता है. बीजेपी का प्रत्यक्ष या परोक्ष तौर पर समर्थन करके, कुछ पार्टियों और उनके नेताओं ने अपनी विश्वसनीयता को ही नुकसान पहुंचाया है. मार्गरेट अल्वा ने कहा कि दुर्भाग्य से, कुछ विपक्षी पार्टियों ने एकजुट विपक्ष के विचार को पटरी से उतारने की कोशिश में प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से बीजेपी का समर्थन करना ही चुना. मैं मानती हूं कि ऐसा करके इन पार्टियों और उनके नेताओं ने अपनी विश्वसनीयता को बहुत बड़ा नुकसान पहुंचाया है.
बता दें कि उपराष्ट्रपति चुनाव में कुल 780 मतदाताओं में से महज 725 ने ही मतदान किया. काउंटिंग के दौरान इसमें से 15 वोट अवैध किए पाए गए. फिर 710 वोटों में से जगदीप धनखड़ को 528 प्रथम वरीयता वोट मिले, वहीं मार्गरेट अल्वा को महज 182 वोट ही मिले.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here