किसी ने कहा है लालच बूरी बला,रातोंरात करोड़पति बनने की चाहत यूपी के आईपीएस अफसर को ले गई सलाखों के पीछे, क्या था वसूली तंत्र!

0
759

AIN NEWS 1: उत्तर प्रदेश कैडर के 2014 बैच के बने आईपीएस अफसर मणिलाल पाटीदार को उनकी सेवा से बर्खास्‍त कर दिया गया है. कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) ने यूपी सरकार की ही सिफारिश पर पाटीदार को अब आईपीएस सेवा से बर्खास्‍त कर दिया है. वैसे तो मणिलाल पाटीदार महोबा के क्रसर व्‍यापारी की मौत के मामले में ही अभी जेल में बंद है. तो आज हम आपको बताते हैं आईपीएस पाटीदार चंद वर्षों की नौकरी के बाद ही कैसे जेल की सलाखों के पीछे पहुंच गए.

वह एक 2014 बैच का अफसर है 

राजस्‍थान के ही डूंगरपुर निवासी मणिलाल पाटीदार साल 2014 में आईपीएस में चयनित हुआ था. पाटीदार को उस समय यूपी कैडर मिला. आरोप यह है कि साल 2020 में पाटीदार के खिलाफ महोबा के क्रसर व्यापारी को उसकी आत्महत्या के लिए उकसाने समेत भ्रष्टाचार के अन्य कई मामले दर्ज हुए. पिछले साल अक्‍टूबर में ही मणिलाल पाटीदार ने कोर्ट में अपना सरेंडर किया था, उसे वहां से जमानत भी मिल गई थी. लेकीन इससे पहले वह दो साल तक फरार था. लेकीन अब आईपीएस की लिस्‍ट में से उसका नाम भी हटा दिया गया है. पैसे की बहुत ज्यादा हवस ने पूरे आईपीएस लॉबी को ही शर्मसार कर दिया है.

अब आईपीएस सूची से भी हटा नाम

उत्तर प्रदेश में बीते तीन दशक में यह एक पहला मामला है, जब किसी आईपीएस अधिकारी को ही उसकी सेवा से बर्खास्त किया गया है. जून 2022 में ही इसको बर्खास्त करने की सिफारिश राज्य सरकार ने ही किया था, जिस पर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राष्ट्रपति के अनुमोदन के बाद से 29 दिसंबर 2022 को इन्हे सेवा से बर्खास्त कर दिया. हांलाकि, पुलिस महकमा इस अधिकारी की करतूतों को पूरी तरह से ढकता रहा. लेकीन अब इसका नाम आईपीएस अधिकारियों की सूची से भी हटा दिया गया है.

जाने इनके पास 50 करोड़ से अधिक की संपत्ति 

मणिलाल पाटीदार पर काफ़ी ज्यादा आरोप है एक तो यह भी है कि उन्होने बुंदेलखंड एक्सप्रेस बनाने के काम में भी रोड़ा अटकाया और वहां से भी वसूली किया. इसके अलावा उनकी वसूली में जो भी पुलिसकर्मी बाधा बनता उसका वह तुरंत ट्रांसफर कर देता. विभागीय जांच में भी पाटीदार के खिलाफ आय से अधिक की जांच में विजिलेंस जांच भी हुई है. पाटीदार के नाम पर कुल 50 करोड़ से अधिक संपत्ति की भी जानकारी जुटाई गई है. कई संपत्तियां तो उसने अपने रिश्‍तेदारों के नाम से ही ख़रीद कर रखी है.

क्या देश में लागू होने वाला है UCC? पीएम मोदी के भाषण से शुरू हुई चर्चा !

‘अतीक-अशरफ की हत्या में यूपी सरकार का हाथ’, सुप्रीम कोर्ट में बहन ने लगाया आरोप ?

आपका राजा अनपढ़ है, आप तो पढ़ लिखे हो. ‘, AAP नेता ने हरीश खुराना को दिया करारा जवाब !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here