क्या आप भी OYO होटल में जाते हैं? कहीं होटल के कमरों में आपके भी तो निजी पलों का नहीं बनाया गया वीडियो? देखें सनीसनीखेज खुलासा!

दिल्ली से सटे नोएडा में OYO होटलों में हिडन कैमरा लगाकर कपल्स के निजी पलों की रिकॉर्डिंग करने वाले एक गैंग का खुलासा हुआ है। इस आरोप में पुलिस ने 4 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पकड़े गए लोग नोएडा में आपराधिक गतिविधियों में शामिल दूसरे गैंग्स के साथ भी संपर्क में थे।

0
449

AIN NEWS 1: दिल्ली से सटे नोएडा में OYO होटलों में हिडन कैमरा लगाकर कपल्स के निजी पलों की रिकॉर्डिंग करने वाले एक गैंग का खुलासा हुआ है। इस आरोप में पुलिस ने 4 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पकड़े गए लोग नोएडा में आपराधिक गतिविधियों में शामिल दूसरे गैंग्स के साथ भी संपर्क में थे। पुलिस के मुताबिक होटल के कमरों में हिडन कैमरे से जोड़ों की वीडियो रिकॉर्डिंग की गई और फिर उन्हें ब्लैकमेल करके रकम की डिमांड की गई। अगर कोई पैसे देने से इनकार करता था तो आरोपियों ने उसके वीडियो लीक करने की धमकी दी।

होटल कर्मचारी नहीं थे साजिश में शामिल

पुलिस के अनुसार शुरुआती जांच से मालूम चला है कि होटल के कर्मचारी इस ब्लैकमैलिंग रैकेट का हिस्सा नहीं थे। पुलिस के मुताबिक गिरोह के सदस्यों ने पहले ओयो होटलों में रुम बुक किए और फिर चेक आउट करने से पहले कमरों में हिडन कैमरे लगाए। चंद दिनों के बाद ये लोग फिर से उन होटलों में वापस गए और कैमरे निकाल लिए। फिर उन्होंने कपल्स से संपर्क साधकर पैसों की डिमांड की जिसके पूरी ना करने पर वीडियो लीक करने की धमकी दी गई।

अब्दुल वहव था सेक्स ब्लैकमेलिंग का मास्टर माइंड

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक छापेमारी के दौरान जब्त किए गए सामानों में 11 लैपटॉप, 21 मोबाइल फोन और 22 एटीएम कार्ड शामिल हैं। इस गिरोह का एक सदस्य फरार है और पुलिस उसकी तलाश में है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी साद मियां खान के अनुसार “आरोपी विष्णु और अब्दुल वहव कपल्स के फोन पर प्राइवेट पलों के वीडियो भेजते थे और उनसे पैसों की मांग करते थे। डिमांड पूरी ना होने पर वीडियो ऑनलाइन पोस्ट करने की धमकी देते थे। तीसरा आरोपी पंकज सिम उपलब्ध कराता था और जबरन वसूली के पैसे को उसके नाम पर रजिस्टर्ड बैंक खाते में भेजने के लिए कहा जाता था।

OYO पर गंभीर लापरवाही का बनेगा मामला?

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी साद मियां खान के अनुसार चारों आरोपियों के पास से 11 लैपटॉप, 7 सीपीयू, 21 मोबाइल, अलग अलग बैंकों के 22 एटीएम कार्ड, एक पैन कार्ड, एक आधार कार्ड, 14 फर्जी आई फार्मा और भारी संख्या में फर्जी दस्तावेज, आई कार्ड, सिम कार्ड बरामद किए गए हैं। इनका एक साथी अभी भी फरार हैं। हालांकि इस गंभीर लापरवाही और लोगों के चेकाआउट के बाद इस तरह से कैमरे लगे छोड़ देने के मामले में OYO ने अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here