गंदे है सर! पढ़ाते वक्त छात्राओं के कपड़ें में हाथ डालता था ये टीचर? कहीं आपके बच्चे भी तो इसी स्कूल में नहीं पढ़ने जा रहे?

कहते हैं स्कूल शिक्षा का मंदिर होता है और टीचर इस मंदिर के पूजारी। यहां पर भक्त रुपी छात्र छात्राओं को अच्छी शिक्षा और संस्कार देना टीचर का परम...

0
485

AIN NEWS 1: कहते हैं स्कूल शिक्षा का मंदिर होता है और टीचर इस मंदिर के पूजारी। यहां पर भक्त रुपी छात्र छात्राओं को अच्छी शिक्षा और संस्कार देना टीचर का परम कर्त्तव्य होता है। लेकिन क्या हो अगर ये पुजारी ही अपने पथ से भटक जाए और उसके सामने अंधश्रद्धा से आए छात्र छात्राओं के साथ ही कच्ची उम्र में यौन शोषण करने लगे। ऐसे में ना केवल इस स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के मां-बाप घबरा जाएंगे बल्कि हर स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के माता पिता के मन में टीचर्स के प्रति संदेह के भाव उत्पन्न हो जाएंगे। दरअसल, मध्य प्रदेश के ग्वालियर में 58 साल के स्कूल शिक्षक की बेहद शर्मनाक हरकत सामने आई है। ये मास्टर जी स्कूल में पढ़ने वाली छात्रों के साथ गंदी हरकतों को अंजाम दे रहा था। अध्यापक की करतूत से परेशान होकर कुछ लड़कियों ने स्कूल जाना ही बंद कर दिया। कारण पूछने पर इन छात्राओं ने अपने परिवार वालों को इसकी जानकारी दी।

 

परिजनों के हंगामे के बाद गिरफ्तार हुआ टीचर

मामले की जानकारी मिलने के बाद परिजनों ने स्कूल पहुंचकर हंगामा किया जिसके बाद आरोपी शिक्षक को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया गया। 58 साल के इस अध्यापक पर आरोप है कि वह कक्षा में पढ़ाते वक्त लड़कियों के कपड़ों में हाथ डालता था। अगर कोई बच्ची इस कत्य का विरोध करती थी तो ये अत्याचारी शिक्षक उन्हें परीक्षा में फेल करने की बात कहकर डराया करता ता था। इस घटना का खुलासा होने के बाद ग्वालियर के जिलाधिकारी ने शिक्षक को बर्खास्त कर दिया है।

बच्चियों के रोने और स्कूल ना जाने की बात से हुआ खुलासा

ये पूरी घटना ग्वालियर के उटीला थाना क्षेत्र स्थित आरौली की है जहां पर एक स्कूल में शिक्षक मुंशीलाल माहौर ने लड़कियों के साथ गलत हरकत की है। इसकी इन्हीं हरकतों से परेशान होकर कई लड़कियों ने स्कूल आना छोड़ दिया। परिवार के लोग जब लड़कियों को स्कूल जाने के लिए कहते थे तो वो बहाना बनाकर स्कूल नहीं आती थीं और ज्यादा दबाव देने पर रोने लगती थीं। परिजनों ने जब उनसे बातचीत की तो छात्रों का सब्र टूट पड़ा और उन्होंने शिक्षक की हरकत के बारे में फूट फूटकर अपने घरवालों को बता दिया। बच्चियों की बात सुनकर उनके परिवार वाले विद्यालय पहुंचे जिसके बाद आरोपी शिक्षक वहां से फरार हो गया। परिवार वालों की शिकायत के बाद पुलिस ने शिक्षक के विरुद्ध छेड़छाड़ और पॉक्सो कानून में मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। इस घटना के बाद उस इलाके में आक्रोश है।

आज उत्तर प्रदेश में सूर्य ग्रहण, जानिए कहा और कब से कब तक

लड़कियों को भय दिखाकर गंदी हरकत करता था मुंशीलाल माहौर

लड़कियों ने आरोप लगाया कि कक्षा में शिक्षक पढ़ाने के दौरान पीछे खड़े हो जाते थे। इस दौरान वह कपड़े में हाथ डालते थे। साथ ही शरीर पर भी हाथ फेरते थे। कई छात्राओं ने जब इसकी खिलाफत की तो वह फेल करने की धमकी दिया करता था। वहीं, कुछ लड़कियां तो इसके खौफ के आगे जुबान खोलने से भी डर रही हैं। महिला पुलिस अधिकारियों के उनको भरोसा देने बात करने के बावूजद वह बोल नहीं पा रही हैं। हालांकि मामले के बारे में ग्वालियर जिलाधिकारी कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने जानकारी मिलते ही कड़ी कार्रवाई करतए हुए आरोपी शिक्षक को बर्खास्त कर किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here