गाजियाबाद में हिंड़न नदी का बढ़ा जलस्तर, कई गांव पानी से हुए जलमग्न !

0
665

Table of Contents

गाजियाबाद में हिंड़न नदी का बढ़ा जलस्तर, कई गांव पानी से हुए जलमग्न !

गाजियाबाद में हिंडन का शोक बढ़ने से गाजियाबाद के कई गांव में पानी भर गया है । पानी भरने के कारण लोगो को काफी ज्यादा समस्या का सामना करना पढ़ रहा रहा है। जिसमें अटौर, नगला चौधरी मोहनपुर, फरुखनगर, करहैड़ा, भनेड़ा, रिस्तल, शमशेर के कई गांव बाढ़ से प्रभावित है। लोगों को एनडीआरएफ की मदद से बाढ़ के पानी से बाहर निकाला गया।
 आपको बता दे कि गाजियाबाद का अटौर हिंडन से है। हिंडन का खीरा बढ़ा हुआ तो अटौर गांव के काजी हिस्से और अटौर का खादर पूरे तरीके से पानी से भर दिया गया है। जो नई कॉलोनी बनी, वो भी बाढ़ के पानी में समा गया। सबसे ज्यादा तो नए भवनों में बसे लोगों को उद्यमों का सामना करना पड़ा है, यहां के भवनों में 4 से 5 फीट तक पानी उनके घर में घुसा दिया गया है। लोगो को अपने घर को खाली करना पड़ा। साथ ही जो पानी में फ़स दिए गए घाटा एनडीआरएफ की समीक्षा द्वारा तय किया गया।
बाढ़ के पानी से सुरक्षित बाहर निकाला गया। कल दो से पानी का गाँव की तरफ सूर्योदय हो गया था। लोगो को प्रशासन ने पहले ही ऐसा संयंत्र दिया था, कि हिंडन नदी के किनारे नहीं। लेकिन लोगो का दावा है, पानी सिर्फ 2 घण्टो में बनाया गया था। एनडीआरएफ ने फरुखनगर के अटौर गांव से 40 लोगों को सुरक्षित निकाला।
बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में शुक्रवार देर शाम गाजियाबाद के बाढ़ राहत प्रभारी एडीएम विवेकानन्द ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्र को लिया। उन्होंने लोगों से अपील की है कि हिंडन नदी का किनारा नहीं। किसी भी स्थिति में आपदा नियंत्रण कक्ष को सूचित करें। सामान ने बताया, गांव करहैड़ा और अटौर में राहत शिविर दिए गए हैं, यहां लोगों को सुरक्षित रखा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here