तस्वीरों में देखें आफताब और श्रद्धा की लवस्टोरी- कैसे दरिंदे ने एक 26 साल की मासूम को प्यार में फंसाकर, 35 टुकड़ों में बांट दिया।

मुंबई में दो लोगों की लव स्टोरी को जब घरवालों का साथ नहीं मिला तो दोनों दिल्ली आ गए। यहां पर मेहरौली में एक फ्लैट लेकर दोनों साथ रहने लगे। लेकिन इसके बाद जो हुआ उसे सुनकर किसी के भी रोंगटे खड़े हो जाएंगे। आफताब ने अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा का बड़ी बेरहमी से मर्डर कर दिया।

0
1570

मई में श्रद्धा की हत्या करने वाला आफताब गिरफ्तार

इस आफताब की हैवानियत हिला देगी

आधी रात को बॉडी पार्ट्स फेंकने घर से निकलता था आफताब

AIN NEWS 1: मुंबई में दो लोगों की लव स्टोरी को जब घरवालों का साथ नहीं मिला तो दोनों दिल्ली आ गए। यहां पर मेहरौली में एक फ्लैट लेकर दोनों साथ रहने लगे। लेकिन इसके बाद जो हुआ उसे सुनकर किसी के भी रोंगटे खड़े हो जाएंगे। आफताब ने अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा का बड़ी बेरहमी से मर्डर कर दिया। उसने क्रूरता की सभी हदें पार करते हुए श्रद्धा की बॉडी के 35 टुकड़े किए और दिल्ली के अलग जंगलों में कई दिनों तक फेंकता रहा। दिल्ली पुलिस ने इस हैवान आफताब को गिरफ्तार कर लिया है। आफताब ने हत्या की ऐसी साजिश की थी कि उस तक पहुंचने में पुलिस का भी दम फूल गया। आखिरकार 6 महीने बाद वो पुलिस के हत्थे चढ़ ही गया।

जंगल में आधी रात को फेंकता था शव के टुकड़े

आफताब की तस्वीर से यकीन करना मुश्किल है कि ये शख्स इतनी घिनौनी और क्रूर वारदात को अंजाम दे सकता है। इसका पूरा नाम आफताब अमीन पूनावाला है। उसने शव के टुकड़े करके दिल्ली में कई जगहों पर फेंका था। श्रद्धा महाराष्ट्र के पालघर की रहने वाली थी। आफताब ने पुलिस को गुमराह करने की काफी कोशिश की थी। उसे लगता था कि पुलिस श्रद्धा के शव तक कभी पहुंच नहीं पाएगी और ये मर्डर हमेशा राज बनकर रह जाएगा।

18 मई को झगड़े के बाद कत्ल 

पुलिस ने पूरी वारदात बताई तो सुनने वालों के भी रोंगटे खड़े हो गए। 18 मई को किसी बात पर दोनों में झगड़ा हुआ तो आफताब ने गला घोंटकर श्रद्धा का मर्डर कर दिया। इसके बाद उसने श्रद्धा के शरीर के 35 टुकड़े किए और उसे रखने के लिए फ्रिज खरीदा। अगले 18 दिनों तक आफताब आधी रात के बाद घर से निकलता और दिल्ली में अलग-अलग जगहों पर श्रद्धा के शव के टुकड़े फेंकता रहा। लगभग 2 किमी जाकर वह जंगल में शवों के टुकड़े फेंकता था जिससे जंगली जानवर उसे खा जाएं।

हत्या से पहले खुश थी श्रद्धा 

 

श्रद्धा इंस्टाग्राम पर काफी ऐक्टिव थी और अपनी दुनिया में खुश थी। परिवार की नाराजगी के बावजूद भी वो आफताब पर भरोसा करती थी लेकिन उसने प्यार के बदले में मौत दे दी। आफताब की ये तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही है। इसमें वो किसी इवेंट में स्टाइल से पोज देता दिखाई दे रहा है। इसी ने अपनी गर्लफ्रेंड श्रद्धा की हत्या कर शव के टुकड़े कर डाले।

श्रद्धा की इंस्टाग्राम पर आखिरी पोस्ट 

श्रद्धा ने इंस्टाग्राम पर आखिरी बार ये पोस्ट डाली थी। 11 मई को गार्डन कैफे लिखकर उसने एक किताब पढ़ते हुए तस्वीर शेयर की थी। कुछ दिन बाद 18 मई को आफताब ने उसकी हत्या कर दी। श्रद्धा की इंस्टाग्राम तस्वीरों से साफ है कि उसे प्रकृति के बीच रहना काफी पसंद था। कई फोटो में वो पेड़-पौधों और नदियों के किनारे दिखती हैं। ये तस्वीर 8 अप्रैल 2020 की है। आफताब के साथ दिल्ली आने से पहले श्रद्धा एक MNC में काम करती थी। 27 मई 2020 को शेयर की गई इस तस्वीर में उसने मुस्कुराती फोटो के साथ लिखा था, ‘एक बार फिर मैं अपने टूटे दांत दिखा रही हूं।’

4 मई को श्रद्धा ने पोस्ट किया वीडियो

 

देखूं मैं तुझे या कुदरत के नजारे, मुश्किलों में है ये दिल मेरा… 4 मई को श्रद्धा के इंस्टाग्राम पर इस गाने के साथ एक वीडियो पोस्ट किया गया था। यह जगह उत्तराखंड का ऋषिकेश नजर आ रहा है। श्रद्धा की सोशल मीडिया पर डाली गई तस्वीरों से साफ पता चलता है कि वह काफी स्टाइलिश थीं। हेयर स्टाइल, ड्रेस सेंस बिल्कुल अलग था। एक और तस्वीर श्रद्धा ने 8 मार्च 2020 को पोस्ट की थी। इस पर दोस्तों ने काफी कमेंट किए थे। एक कन्फ्यूजिंग लिखा था। एक ने पूछा था कि मुंह में क्या है।

 

मीडिया के सामने चेहरा छिपाता रहा आफताब

आरोपी आफताब को जब मीडिया के सामने लाया गया तो वो अपना चेहरा छिपाने की कोशिश कर रहा था। उसे पांच दिन की पुलिस हिरासत में भेजा गया है।

मुंबई से शुरु हुई कहानी का दिल्ली में दर्दनाक अंत

ये कहानी मुंबई से शुरू होती है। एक मल्टीनेशनल कंपनी के कॉल सेंटर में 26 वर्ष की श्रद्धा काम करती थी। यहीं पर उसकी मुलाकात पूनावाला से हुई। दोनों डेटिंग करने लगे और ज्यादा समय साथ में बिताने लगे। उनके रिश्ते को परिवार ने मंजूरी नहीं दी तो घरवालों को बिना बताए ये दिल्ली आ आए। यहां मेहरौली में इन्होंने फ्लैट लिया और साथ रहने लगे। कुछ वक्त तक तो सब ठीक रहा लेकिन फिर शादी को लेकर झगड़ा शुरू हो गया। श्रद्धा चाहती थी आफताब शादी करे लेकिन वह राजी नहीं था।

श्रद्धा के बंद फोन से बढ़ा शक

श्रद्धा ने जब अपने घरवालों के फोन कॉल रिसीव करने बंद कर दिए तो 8 नवंबर को उसके पिता विकास मदान अपनी बेटी की कुशलक्षेम जानने दिल्ली आए। वो फ्लैट पर आए तो वहां दरवाजा बंद था। उन्होंने मेहरौली पुलिस से संपर्क किया और अपहरण की शिकायत दर्ज कराई। उनकी शिकायत के आधार पर ही पुलिस ने शनिवार को पूनावाला को गिरफ्तार कर लिया। जांच के दौरान उसने बताया कि दोनों में लड़ाई झगड़े होने लगी थे क्योंकि श्रद्धा उससे शादी करना चाहती थी। पुलिस ने मर्डर का केस दर्ज कर श्रद्धा के शव की तलाश शुरू कर दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here