पवन पांडेय का जलवा था,लेकर चलता था सुरक्षाकर्मियों की फौज, नोएडा स्पा में मारपीट करने वाला, जानिए पूरा किस्सा

0
252

Ainnews1.com Noida News : बताते चले नोएडा के सेक्टर-18 में स्थित एक स्पा सेंटर में पवन पांडे ने कर्मचारी से मारपीट, गाली-गलौज किया और धमकी भी दी। जिसके बाद स्पा सेंटर के कर्मचारी ने सेक्टर-20 थाना पुलिस तहरीर देकर रिपोर्ट दर्ज करा दी है। जिस पर कार्यवाही करते हुए पुलिस ने शुक्रवार को आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया। हालाकि धाराएं जमानत देने योग्य थीं, लिहाजा, उस दिन आरोपी को रिहाई भी मिल गई। अब उस युवक की तमाम फोटो सोशल मीडिया पर लगातर वायरल हो रही हैं। जिसमें वह यूपी पुलिस की सुरक्षा घेरे में है। उसके साथ इक्का-दुक्का नहीं दर्जनभर पुलिसकर्मियों की फौज आपको नजर आ रही है। हालांकि, गौतमबुद्ध नगर पुलिस ने साफ किया है कि अब उसके पास कोई भू सुरक्षाकर्मी नहीं है।


यह है पूरा मामला

पुलिस ने बताया कि बीते गुरुवार को पवन कुमार पाण्डेय पुत्र राजूराम, जो राजनगर एक्सटेंशन थाना नंद ग्राम गाजियाबाद का ही निवासी है। वह नोएडा के सेक्टर-18 में स्थित एलाइट स्पा में मसाज थेरेपी लेने के लिए आया था। यहां पर पवन अपने दोस्त राजेंद्र तोमर के साथ मे आया था। राजेन्द्र मेरठ का रहने वाला है। पुलिस ने बताया कि कुछ देर बाद आरोपी पवन ने स्पा सेंटर के कर्मचारी राजू से वहां के स्टाफ की सर्विस पर कुछ आपत्तियां जताई। शिकायत करने वाले ने पुलिस को बताया कि पवन ने कुछ अनावश्यक डिमांड भी वहा कीं। जिसे पूरा करने से कर्मचारी ने साफ़ मना कर दिया। इसी बात पर दोनों के बीच काफ़ी नोकझोंक होने लगी।
इसपर पवन ने कर्मचारी को गालियां दीं और धमकी दी
आरोप है कि इसी दौरान आरोपी पवन ने कर्मचारी के साथ काफ़ी गाली-गलौज शुरू कर दी और उसे कमरे में अंदर खींचकर भी ले गया। जहां पर उसने उसके साथ मारपीट की और जेल भेजने तक की धमकी देकर वहां से अपने दोस्त के साथ फरार हो गया। जिसके बाद राजू ने पुलिस को तहरीर देकर आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया। फिर पुलिस ने पवन कुमार पाण्डेय की तलाश शुरू कर दी। पुलिस ने आरोपी पवन पांडे को सेक्टर-18 से ही गिरफ्तार कर लिया। हालांकि, धाराएं जमानत देने लायक थी लिहाजा उसे दिन पवन पांडे को रिहा भी कर दिया गया।अब पवन की फोटो सोशल मीडिया पर काफ़ी ज्यादा वायरल हुईं।
पवन पांडे की तमाम फोटोज सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। जिनमें वह उत्तर प्रदेश पुलिस के जवानों की फोज के साथ नजर आ रहा है। फोटोज में उसके चारों तरफ दर्जनभर पुलिसकर्मी खड़े हुए हैं। बताया जा रहा है कि यह पवन पांडे के सुरक्षाकर्मी हैं। दरअसल, खनन माफिया से जुड़े किसी मामले में पवन पांडे गवाह बना था। वह पेशे से एक पत्रकार है। इसी कारण उसे यह सारी सुरक्षा दी गई थी। गाजियाबाद के राज नगर में पवन पांडे और किसी महिला के बीच विवाद भी हो गया था। जिसके बाद पवन की सुरक्षा उस समय हटा ली गई थी। गौतमबुद्ध नगर पुलिस का कहना है कि फिलहाल पवन पांडे के पास कोई भी सुरक्षाकर्मी नहीं है। दूसरी और जानकारी मिली है कि पवन पांडे को किसी बड़े नेता की सिफारिश पर गाजियाबाद से सुरक्षाकर्मी मुहैया करवाए गए थे। पवन मूल रूप से मथुरा का निवासी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here