पाकिस्तान :Imran Khan को हो सकती है सजा-ए-मौत या उम्रकैद, बोले- खून की आखिरी बूंद तक लड़ता रहूंगा!

0
533

AIN NEWS 1: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की आज लाहौर कोर्ट में पेशी होनी है. पेशी से पहले इमरान ने जिस अंदाज में पाकिस्तानी सरकार और सेना के खिलाफ काफ़ी ज्यादा आग उगली है, उससे तो यही साफ जाहिर हो रहा है कि आने वाले दिनों में पाकिस्तान की सियासत से लेकर अवाम तक के लिए बहुत भारी साबित होने वाले हैं. इमरान बार-बार ही ये कह रहे हैं कि उने सरकार का गुलाम बनने से मरना बेहतर होगा. दरअसल, पाकिस्तानी सेना इमरान खान को अब सजा-ए-मौत देने तक की तैयारी कर चुकी है.पाकिस्तान की सियासत की इस पूरी लड़ाई में ही एक तरफ तो इमरान खान हैं तो दूसरी तरफ पाकिस्तानी सेना और सरकार. वहीं, इस लड़ाई में तीसरी तरफ एक और मास्टरमाइंड है जो लंदन में बैठकर पूरा चक्रव्यूह ही तैयार कर रहा है. इमरान खान ने कहा, की में पाकिस्तान के लोगों को अपना एक संदेश देना चाहता हूं कि मैं अपने खून की आखिरी बूंद तक देश और समाज की आजादी के लिए लड़ूंगा क्योंकि मेरे लिए इन बदमाशों का गुलाम बनने से मौत ज्यादा बेहतर है.’

इमरान खान को 10 साल तक जेल में डालने की हो गई है तैयारी’

पाकिस्तान की सरकार भी अब ठानकर बैठी है कि अगर इमरान को छोड़ दिया तो सरकार का बचना बहुत ज्यादा मुश्किल ही नहीं बल्कि पूरी तरह से यह नामुमकिन साबित होगा, लिहाजा सरकार भी इमरान के खिलाफ अपना पूरा चक्रव्यूह तैयार करने में जुटी है. इधर इमरान को ये डर सता रहा है कि उन्हें 10 साल तक जेल में डालने की सरकार की पूरी तैयारी है.

इमरान खान पर केस ऐसे ऐसे कि हो सकती है मौत की सजा 

दरअसल, इमरान खान की पार्टी के समर्थकों ने ही पाकिस्तानी सेना के कई ठिकानों पर हमला बोला दिया था, जिससे सेना की साख पर तो कई सारे सवाल उठे ही थे, साथ ही साथ सेना को लोगो द्वारा सीधे-सीधे चुनौती भी दी गई थी. इसके बाद पाकिस्तानी सेना ने इमरान खान के खिलाफ कुछ ऐसी धाराओं के तहत मामला दर्ज किया जिसमें सीधे-सीधे मौत की ही सजा का भी प्रावधान है.

इमरान खान के खिलाफ पाकिस्तान आर्मी एक्ट की धारा 59, 60 के तहत एक केस दर्ज किया गया है. इन धाराओं का ट्रायल मिलिट्री समरी कोर्ट में ही होगा. बताया जाता है कि इस एक्ट के तहत दर्ज केस में दोषी साबित होने पर या तो मौत की सजा मिलती है या फिर कम से कम उम्र कैद होती है. ये केस पाकिस्तानी सेना के मुखिया जनरल आसिम मुनीर के उस बयान के बाद में दर्ज किया गया है जिसमें उन्होंने मिलिट्री संस्थानों पर हमला करने वालों के खिलाफ काफ़ी सख्त सजा देने की चेतावनी दी थी. शायद इसी वजह से इमरान खान ने पाकिस्तानी सेना के चीफ जनरल आसिम मुनीर के खिलाफ अब मोर्चा खोला था और अंदेशा भी जताया था कि आर्मी एक्ट में बदलाव किया जा सकता है और उन्हें भी फंसाया जा सकता है.

जान ले इमरान के लिए शहबाज की रणनीति

शहबाज सरकार ने इमरान के खिलाफ घेराबंदी की पूरी तैयार करने के लिए बड़ी रणनीति पर काम करना भी शुरू कर दिया है. इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ ने पूरी तरह से साफ किया है कि इमरान के खिलाफ पाकिस्तान में जो कुछ भी हो रहा है उसके पीछे केवल नवाज शरीफ का ही हाथ है. इस समय नवाज शरीफ लंदन में बैठे हैं और वहीं से इमरान के खिलाफ वह नये-नये दांव पेंच चल रहे हैं. इमरान खान ने कहा, ‘जब मैं जेल में था तब शहबाज सरकार ने हिंसा के बहाने जज, ज्यूरी और जल्लाद की भी भूमिकाएं निभाई. मेरी बेगम बुशरा को जेल भेजने की पूरी तैयारी है, जिससे मुझे और ज्यादा जलील किया जा सके. अगले 10 साल तक मुझे जेल में रखने के लिए मुल्क का गद्दार भी साबित किया जा सकता है.’

जान ले इमरान खान पर हो गया है इमरान पर मुकदमों का शतक

पाकिस्तान के अलग-अलग प्रांतों में इमरान खान के खिलाफ अब तक 100 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं और इन तमाम मुकदमों में ही इमरान जमानत पर हैं. पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट ने ही इमरान को राहत दी थी, साथ ही इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने भी इमरान को जमानत दी थी. इमरान फिलहाल 100 से अधिक मामलों में जमानत पर चल रहे हैं.इमरान ने आरोप लगाया है कि पाकिस्तान में दोबारा इंटरनेट सेवाओं पर बैन लगाने की पूरी तैयारी है. खान ने आगे कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के बाहर पाकिस्तानी सरकार केवल ड्रामा कर रही है. सुप्रीम कोर्ट के बाहर चल रहे धरने के पीछे बस यही एक मकदस है कि किसी भी तरह से चीफ जस्टिस ऑफ पाकिस्तान को डराया जा सके, ताकि सुप्रीम कोर्ट कानून के मुताबिक फैसला ना सुनाया जा सके.

इमरान खान ने कहा की खून की आखिरी बूंद तक लड़ूंगा

इमरान खान जिस अंदाज में बयान दे रहे हैं उससे तो साफ़ साफ़ यही लग रहा है कि अब वो केवल अपने अस्तित्व की लड़ाई ही लड़ रहे हैं, क्योंकि इमरान को ये डर भी साफ़ सताने लगा है कि अब अगर उन्हें जेल में डाला गया तो शायद ही वो वहां से जिंदा बाहर लौटें. लिहाजा वो खुलकर पाकिस्तानी सरकार के खिलाफ अपनी बैटिंग में जुट गए हैं. इमरान ने कहा है कि जिन मुल्कों में अन्याय होता है वहां केवल जंगल का कानून होता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here