फर्जी’ गैंग रेप की कहानी गढ़ने वाली दिल्ली की नर्स को पुलिस ने किया गिरफ्तार। गाजियाबाद में सड़क किनारे मिली थी महिला, गुप्तांग में रॉड डालने तक का लगाया था आरोप!

गाजियाबाद पुलिस ने दिल्ली की एक महिला को गैंग रेप की 'फर्जी' कहानी गढ़ने और पुलिस को गुमराह करने के प्रयास में गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने महिला के खिलाफ ठगी और फर्जीवाड़े का केस भी दर्ज किया था।

0
398

AIN NEWS 1: गाजियाबाद पुलिस ने दिल्ली की एक महिला को गैंग रेप की ‘फर्जी’ कहानी गढ़ने और पुलिस को गुमराह करने के प्रयास में गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने महिला के खिलाफ ठगी और फर्जीवाड़े का केस भी दर्ज किया था। पुलिस इस घटना में गिरफ्तार महिला से पूछताछ कर रही है। गाजियाबाद पुलिस के पुलिस अधीक्षक निपुण अग्रवाल ने कहा कि इस महिला को गिरफ्तार करके उसका बयान दर्ज करने के लिए मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। महिला से पहले उसके तीन साथियों को भी गिरफ्तार किया जा चुका है।

दिल्ली महिला आयोग ने जांच कराने का किया अनुरोध

गाजियाबाद के इस कथित गैंगरेप मामले में दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी को पत्र लिखा है। उन्होंने उच्च स्तरीय कमेटी गठित करके इसकी जांच कराने की गुजारिश की है। दरअसल, 18 अक्टूबर को गाज़ियाबाद के नंदग्राम इलाके में एक महिला बंधी हुई हालत में बोरे में मिली थी। उसने पुलिस को बताया था कि अपहरण के बाद 5 लोगों ने दो दिन तक उसका बलात्कार किया था। इस मामले में 5 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया था। लेकिन पुलिस ने जांच में इस घटना को फर्जी करार दिया। इनके अतिरिक्त आजाद, गौरव और अफजाल को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस का दावा है दिल्ली की प्रॉपर्टी में जारी विवाद को अपने पक्ष में मोड़ने के लिए कहानी बनाई गई थी।

दस लोगों ने किया सॉफ्टवेयर इंजीनियर के साथ गैंगरेप। चिल्लाती रही युवती लेकिन कोई मदद को नहीं आया। नाजुक हालत में अस्पताल में भर्ती है युवती।

वायरल ऑडियो-वीडियो ने गैंगरेप पर उठाए सवाल!

इस मामले में महिला की भूमिका शक के घेरे में आने के बाद पुलिस सतर्क हो गई थी। जीटीबी हॉस्पिटल में गाजियाबाद पुलिस की टीम को लगाया गया था। अफसरों से मिली जानकारी के मुताबिक अस्पताल में दो दारोगा और दो महिला कांस्टेबल को तैनात किया गया था। अधिकारियों के मुताबिक इस साजिश में महिला का नाम भी सामने आया है। पुलिस के खुलासे के साथ महिला का वीडियो और ऑडियो वायरल हुआ। जिसमें उसने खुलासे पर सवाल उठाकर गैंगरेप होने की बात कही है। साथ ही उसने गिरफ्तार आरोपियों से संबंध की बात से भी इंकार किया है। पुलिस इस वीडियो की भी जांच कर रही है। इस मामले में अभीतक मीडिया से बात कर रहे महिला के भाई ने नंबर बंद कर दिया है। जांच में खबर को वायरल करने के लिए 5 हजार रुपये लेने में एक महिला का नाम सामने आया है।

जांच में निकला प्रॉपर्टी का पुराना विवाद

दिल्ली की महिला को अलपहरण करके दो दिन तक गैंगरेप के आरोप वाले मामले में गाजियाबाद पुलिस ने गुरुवार को बड़ा खुलासा किया था। पुलिस का कहना है कि महिला के साथ ऐसी कोई घटना नहीं हुई थी। प्रॉपर्टी के पुराने विवाद में दूसरे पक्ष को फंसाने के लिए महिला ने पूरी प्लानिंग के साथ गैंगरेप की झूठी कहानी तैयार की थी। इस मामले में आरोपियों से पूछताछ करने के लिए आईजी मेरठ रेंज प्रवीण कुमार भी पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि इस मामले में प्लानिंग करने वाले आजाद, उसके दो साथी अफजल और गौरव को गिरफ्तार किया गया है और मामले में अभी जांच जारी है। महिला से भी डॉक्टर की सलाह पर पूछताछ की जाएगी। वहीं जिन पर गैंगरेप का केस दर्ज किया गया था, उनकी अभी तक कोई भूमिका नहीं मिली है। पुलिस ने लोकेशन के साथ उसे कनफर्म किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here