फिर कांग्रेस के नेताओं ने हिंदू-मुस्लिम विवाद करके घोला जहर! हिंदू के ब्रिटेन का पीएम बनने पर मुस्लिम पीएम की मांग उठाई

भारतीय मूल के हिंदू ऋषि सुनक ब्रिटेन के नए पीएम बनकर इतिहास रचने जा रहे हैं। दिवाली के मौके पर पेनी मॉर्डंट के मुकाबले से हटने के एलान के बाद...

0
569

AIN NEWS 1: भारतीय मूल के हिंदू ऋषि सुनक ब्रिटेन के नए पीएम बनकर इतिहास रचने जा रहे हैं। दिवाली के मौके पर पेनी मॉर्डंट के मुकाबले से हटने के एलान के बाद सुनक बिना किसी विरोध के कंजरवेटिव पार्टी के नेता चुन लिए गए। सुनक 210 साल में ब्रिटेन के पीएम बनने वाले सबसे कम उम्र के नेता होंगे। ब्रिटेन के पूर्व वित्त मंत्री सुनक एक धर्मनिष्ठ हिंदू हैं और अब वह लंदन के प्रतिष्ठित एड्रेस 10 डाउनिंग स्ट्रीट यानी पीएम हाउस में प्रवेश करने वाले हैं। ये ब्रिटेन के पीएम का ऑफिशियल आवास और दफ्तर है।

भारत में ट्रेंड करने लगा है ‘Muslim PM’

सुनक के ब्रिटेन का पीएम बनने के बाद सोमवार रात से भारत में ट्विटर पर ‘Muslim PM’ ट्रेंड होने लगा। इसके बाद तो लोगों ने कांग्रेस अध्यक्ष पद की रेस में हाल ही में मल्लिकार्जुन खड़गे से हारे कांग्रेस सांसद शशि थरूर को जमकर ट्रोल किया। दरअसल, ब्रिटिश संग्रहालय के अध्यक्ष जॉर्ज ओसबोर्न ने कल एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा था कि दिन के आखिर तक ऋषि सुनक प्रधानमंत्री होंगे। मेरी तरह कुछ लोग सोचते हैं कि वह हमारी समस्याओं का समाधान हैं। वहीं, दूसरों को लगता है कि वह समस्या का हिस्सा हैं। आपकी जो भी राजनीति हो, लेकिन आइए हम सभी पहले ब्रिटिश एशियाई के पीएम बनने का जश्न मनाएं और अपने देश पर गर्व करें कि यहां ऐसा हो सकता है। उनके इस ट्वीट पर बड़बोले कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने रिट्वीट करते हुए लिखा कि अगर ऐसा होता है तो मुझे लगता है कि हम सभी को यह स्वीकार करना होगा कि ब्रिटेन के लोगों ने बहुत ही दुर्लभ काम किया है। अपने सबसे ताकतवर कार्यालय में अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्य को मौका दिया है। हम भारतीय ऋषि सुनक के लिए जश्न मना रहे हैं। आइए ईमानदारी से पूछें क्या यह यहां हो सकता है?’

 

इसके बाद शुरु हो गई शशि थरूर की ट्रोलिंग

शशि थरूर के इस जवाब के बाद भारत में ट्विटर पर ‘मुस्लिम पीएम’ ट्रेंड होने लगा। शशि थरूर के ट्वीट के बाद कई लोगों ने उनको ट्रोल करना शुरू कर दिया। कई यूजर्स ने इसके लिए मिसाल भी पेश की। राजनीतिक टिप्पणीकार सुनंदा वशिष्ठ ने लिखा, “दो कार्यकाल के लिए सिख पीएम, मुस्लिम राष्ट्रपति, महिला प्रधानमंत्री, महिला राष्ट्रपति…कई ऐसे उदाहरण हैं. हम इसके बारे में ज्यादा हो-हल्ला नहीं करते, क्योंकि हम ब्रिटिश के विपरित नस्लवादी नहीं हैं। बेशक उनके लिए यह बहुत बड़ी बात है।

आज उत्तर प्रदेश में सूर्य ग्रहण, जानिए कहा और कब से कब तक

सहमत भी दिखे तो विरोध भी नजर आया

एक यूजर ने लिखा-एक हिंदू 75% ईसाई आबादी के साथ ब्रिटिश साम्राज्य का पीएम बन सकता है, एक हिंदू 80% ईसाई आबादी के साथ संयुक्त राज्य अमेरिका का उपराष्ट्रपति बन सकता है। लेकिन भारत सिर्फ 20% मुस्लिम आबादी वाला देश, उनके शांतिपूर्ण सह-अस्तित्व की गारंटी नहीं दे सकता है। वहीं रोहन नाम के यूजर ने लिखा भारत में 3 निर्वाचित मुस्लिम और एक सिख राष्ट्रपति रहे हैं जिन्होंने राज्य के प्रमुख के रूप में काम किया। भारत में एक सिख प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने 10 साल तक सरकार के मुखिया के तौर पर काम किया। भारत में उच्च पदों पर अनगिनत ‘गैर-बहुमत’ नागरिक हैं। अगर आप उन्हें स्वीकार नहीं करते हैं, तो यह आपकी समस्या है, भारत की नहीं। अमित नाम के एक ट्विटर यूजर ने शशि थरूर के ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा एक ईसाई द्वारा नियंत्रित एक सिख प्रधानमंत्री। उनके अधीन आपके जैसा हिंदू मंत्री। पहले ही हो चुका है भाई!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here