फ्लॉप हो रही, हिंदी फिल्में आपकी वजह से, करण जौहर के किए गए सवाल पर बोले अमीर खान गलत है…

0
211

Ainnews1.com:- बॉलीवुड की बहुत सी फिल्में लगातार फ्लॉप होती जा रही है। तो वहीं दूसरी तरफ साउथ की फिल्में नॉर्थ इंडिया में अच्छा प्रदर्शन कर रही है। सोशल मीडिया पर भी बॉलीवुड की फिल्मों को लगातार बायकॉट करने की मांग हो रही है। हिंदी फिल्मों के लिए 50 करोड़ का कलेक्शन करना भी मुश्किल हो रहा है। अब हिंदी फिल्मों के सुपरस्टार आमिर खान ने बताया। कि क्या वजह बॉलीवुड की फिल्में लगातार क्यों फ्लॉप हो रही। आमिर खान इन दिनों अपनी आने वाली फिल्म लाल सिंह चड्डा को लेकर काफी चर्चाओं में हैं। इस फिल्म को सोशल मीडिया पर बहिष्कार करने की मांग भी की जा रही है। अब कॉफी विद करण 7 के एपिसोड में आमिर खान ने इन सवालों का जवाब दिया है।कॉफी विद करण 7 के हालिया एपिसोड में निर्देशक और होस्ट करण जौहर ने दावा किया है। कि एक्टर आमिर खान हिंदी सिनेमा के फ्लॉप होने की वजह हैं…? आमिर के साथ बातचीत में, ऐ दिल है मुश्किल के निर्देशक करण जौहर ने कहा, “साउथ इंडिया की कुछ फिल्में जैसे बाहुबली, आरआरआर, केजीएफ, और पुष्पा को इतनी सफलता मिली है कि वो परदे पर छा गई। वहीं हमारी कुछ ऐसी फिल्में, बिल्कुल काम नहीं कर रही हैं। क्या हाल ही में हमारी फिल्मों में कोई बदलाव आया है, जो केजीएफ और पुष्पा ने पूरी की है, क्या सच में हिंदी सिनेना केजीएफ और पुष्पा जैसी फिल्मों की कमी है। हम वास्तव में इसे जाने देते हैं और आप इसके लिए जिम्मेदार हैं।”इस सब के लिए आमिर खान को जिम्मेदार बताते हुए करण जौहर ने कहा, “साल 2001 में आप दो फिल्में, ‘दिल चाहता है’ और ‘लगान’ लेकर आए, दोनों में नई संवेदनाएं थीं, दोनों में सिनेमा में एक नया सिंटैक्स था फिर उसके बाद आप 2006 में फिल्म ‘रंग दे बसंती’ के साथ आए, फिर आपने उसके ठीक बाद ‘तारे ज़मीन’ पर बनाई, जिसके परिणामस्वरूप आपने एक निश्चित दर्शक और फिल्म बनाना शुरू किया था लेकिन अब वो बंद है।करण जौहर के दावों पर आमिर खान ने कहा, ””नहीं, आप गलत हैं। वे सभी हार्टलैंड फिल्में थीं। उन फिल्मों में भावनाएं थीं। जो आम आदमी तक सीधे पहुंची।

राहुल गांधी ने कहा मैं बताता हु कैसे जीतते है चुनाव

 

 

यह कुछ ऐसा है जिससे आप भावनात्मक रूप से जुड़ जाएंगे। रंग दे बसंती बहुत भावुक फिल्म रही। यह लोगों को जमीनी स्तर पर छूती है।”आमिर खान ने साउथ की फिल्मों पर कहा, ”मैं यह नहीं कह रहा हूं कि एक्शन फिल्में या क्रूड फिल्में बनाएं। अच्छी कहानियों के साथ अच्छी फिल्में बनाएं लेकिन ऐसे विषय चुनें जो ज्यादातर लोगों के लिए प्रासंगिक हों। हर फिल्म निर्माता को वह बनाने की आजादी है जो वे चाहते हैं। लेकिन जब आप कुछ ऐसा चुन रहे हैं जो भारत का बड़ा हिस्सा वास्तव में इसमें दिलचस्पी नहीं रखता है। मुझे लगता है कि यही डिफ्रेंस है।”पिछले कुछ सालों में भारतीय फिल्मों ने दुनिया भर में असाधारण रूप से अच्छा प्रदर्शन किया है। लेकिन पृथ्वीराज, रणबीर कपूर की शमशेरा और रणवीर सिंह की जयेशभाई जोरदार जैसी बॉलीवुड की बड़ी फिल्में दर्शकों को सिनेमाघरों तक लाने में असफल रहीं। एक के बाद एक बॉलीवुड की कई फिल्में लगातार फ्लॉप हो रही हैं।करण के चैट शो का पांचवां एपिसोड बहुत ही मजेदार रहा है। आमिर खान ने लाइव दर्शकों के 73% वोटों के साथ रैपिड-फायर राउंड जीता और करीना ने 15 अंकों के बहुमत के साथ क्विक बजर राउंड जीता। वर्कफ्रंट की बात करे तो आमिर फिलहाल में अपनी आगामी फिल्म लाल सिंह चड्ढा के प्रमोशन में बिजी हैं। फिल्म 11 अगस्त, 2022 को सिनेमाघरों में रिलीज होगी। फिल्म में करीना कपूर खान और मोना सिंह भी हैं। लाल सिंह चड्ढा अक्षय कुमार की अगली फिल्म रक्षा बंधन के साथ बॉक्स ऑफिस पर एक बड़ी टक्कर का सामना करने जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here