मंदिर उड़ाने पहुँचा ये जेहादी ख़ुद मौत के मुँह में समाया! जिस कार ब्लास्ट की तैयारी की थी ख़ुद उसमें उड़ा।

कोयंबटूर में एक मंदिर के सामने एक कार में हुए विस्फोट में मारा गया 29 साल का इंजीनियर ग्रैजुएट एक आत्मघाती हमलावर था।

0
868

ख़ुद बॉम्ब विस्फोट में मरा जिहादी

मंदिर उड़ाने गया था इंजीनियर

कार विस्फोट में मरा 29 साल का आतंकी

AIN NEWS 1: कोयंबटूर में एक मंदिर के सामने एक कार में हुए विस्फोट में मारा गया 29 साल का इंजीनियर ग्रैजुएट एक आत्मघाती हमलावर था। जांच एजेंसी एनएआईए ने इसका खुलासा किया है। उनका कहना है कि बम संभालने में अनुभवहीनता की वजह बड़ा नुकसान नहीं हुआ।एक प्रत्यक्षदर्शी ने पुलिस से कहा कि दीवाली की पूर्व संध्या पर सुबह 4 बजे कोट्टैमेडु में संगमेश्वर मंदिर के सामने कार रुकी। मुबीन आग की लपटों में घिरी कार से कुछ फीट दूर जमीन पर गिरने से पहले बाहर निकला। उसका शरीर जल गया था। जांचकर्ताओं ने कहा कि अगर कार में दो एलपीजी सिलेंडरों में से एक के कारण विस्फोट हुआ होता तो मंदिर की ओर जाने वाली सड़क के किनारे घर भी जल सकते थे। एनआईए सूत्रों के मुताबिक, आईएस की इस्लामिक विचारधारा ने मुबीन को कट्टरपंथी बना दिया था, लेकिन उसे आतंकवादी की ठीक से ट्रेनिंग नहीं मिली थी। उसने विस्फोटकों को संभालने के बारे में जानकारी इंटरनेट से पता की थी।

अब तक छह गिरफ़्तार

इस मामले में अब तक छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है। सभी आईएस से हमदर्दी रखते हैं। इन सभी से पूछताछ के बाद एनआईए ने कहा कि मुबीन ने सोचा कि उसका आत्मघाती बम विस्फोट 50 से 100 मीटर के दायरे में मंदिर और उसके नज़दीकी भवनों को नुकसान पहुंचाएगा। लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

दिवाली से पहले धमाका

शनिवार की देर शाम मुबीन और उसके दो सहयोगियों, मोहम्मद अज़रूद्दीन और के अफसर खान ने दो एलपीजी सिलेंडरों के साथ कार में पोटेशियम नाइट्रेट, एल्यूमीनियम पाउडर, सल्फर, चारकोल, कील और बॉल बेयरिंग से भरे स्टील के तीन ड्रम रखे। एक अफ़सर ने कहा कि सीसीटीवी कैमरों ने इस साज़िश को कैद कर लिया।दूसरे कैमरों के फुटेज में विस्फोट से पहले मुबीन और उसके सहयोगियों की गतिविधियों को दिखाया गया है। अफ़सर ने बताया कि तीनों ने बिग बाजार स्ट्रीट पर स्थित कोनियाम्मन मंदिर और पुलियाकुलम मुंडी विनयगर मंदिर की रेकी की ।

8 अलग-अलग आदमियों से महिला ने जन्मे 11 बच्चे, महिला का हैरतंगेज जवाब सुनकर आप भी हंसी नहीं रोक पाएंगे

दिवाली से पहले आतंकी साज़िश

मुबीन और गिरफ्तार किए गए दोनों ने गांधी पार्क में एक एलपीजी बुकिंग केंद्र का भी दौरा किया। उन्होंने वहां से दो सिलेंडरों की खरीद की। बुकिंग केंद्र ने उनकी खरीद के खिलाफ चालान जारी किया। इसके बाद तीनों ने लॉरीपेट के पुराने बाजार क्षेत्र का दौरा किया, जहां उन्होंने तीन स्टील ड्रम खरीदे। एनआईए के पूर्व अधिकारी शिवकुमार ने उन सूचनाओं के टुकड़ों को एक साथ जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जिससे जांचकर्ताओं को आतंकी साजिश का पता चला। एक सूत्र ने कहा, “एनआईए के पूर्व अधिकारी ने 2019 में मुबीन से कट्टरपंथी तत्वों के साथ उसके संदिग्ध संबंधों के बारे में पूछताछ की थी। उन्होंने मुबीन के घर की तलाशी शुरू की, जिससे विस्फोटक बनाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली 75 किलोग्राम मिश्रित सामग्री जब्त की गई।”

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here