रिलायंस है देश की बेस्ट कंपनी! दुनिया की टॉप 100 कंपनियों में शामिल अकेली भारतीय कंपनी है रिलायंस ।

दुनिया की बेहतरीन कंपनियों की लिस्ट फोर्ब्स ने हाल ही में 'वर्ल्ड बेस्ट इम्प्लॉयर्स 2022' के नाम से जारी की है। इस लिस्ट में रेवेन्यू,मुनाफा और मार्केट वैल्यू के हिसाब से कंपनियों को अलग अलग रैंकिंग दी गई है।

0
319

मुकेश अंबानी का एक और कमाल

रिलायंस बनी देश की बेस्ट कंपनी

दुनिया की 20वीं बेस्ट कंपनी है रिलायंस

AIN NEWS 1: दुनिया की बेहतरीन कंपनियों की लिस्ट फोर्ब्स ने हाल ही में ‘वर्ल्ड बेस्ट इम्प्लॉयर्स 2022’ के नाम से जारी की है। इस लिस्ट में रेवेन्यू,मुनाफा और मार्केट वैल्यू के हिसाब से कंपनियों को अलग अलग रैंकिंग दी गई है। इस लिस्ट में टॉप 20 भारत की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज भी शामिल है जो 20वें पायदान पर है। ऑयल-टू-टेलीकॉम-टू-रिटेल ग्रुप रिलायंस में 2.30 लाख कर्मचारी काम करते हैं। भारत में मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज को बेस्ट इम्प्लॉयर करार दिया गया है। इस लिस्ट में रिलायंस ग्रुप से मर्सिडीज-बेंज, कोका-कोला, होंडा एंड यामाहा और सऊदी अरामको भी पीछे रह गई हैं। टॉप-100 में रिलायंस के अलावा और कोई भारतीय कंपनी नहीं है।

सैमसंग है दुनिया की बेस्ट कंपनी 

अगर इस पैमाने पर दुनिया की दिग्गज कंपनियों की बात की जाए तो ग्लोबल बेस्ट इम्प्लॉयर्स लिस्ट में दक्षिण कोरिया की कंपनी सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स पहले नंबर पर है। इसके बाद अमेरिकी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट दूसरे IBM तीसरे, गूगल की पैरेंट कंपनी अल्फाबेट चौथे और एपल 5वें नंबर पर है।

अमेरिकी कंपनियों का है लिस्ट में दबदबा

लिस्ट में दूसरे से लेकर 12वें नंबर तक अमेरिकी कंपनियां का दबदबा है। इसके बाद जर्मन ऑटोमेकर BMW ग्रुप लिस्ट में 13वें स्थान पर,  दुनिया की सबसे बड़ी ऑनलाइन रिटेलर अमेजन 14वें और फ्रांस की डिकेथलॉन 15वें नंबर पर है। अगर बात करें लिस्ट में शामिल दूसरी भारतीय कंपनियों की तो HDFC बैंक लिस्ट में 137वें नंबर पर है, इसके अलावा बजाज 173वें, आदित्य बिड़ला ग्रुप 240वें, हीरो मोटोकॉर्प 333वें, लार्सन एंड टुब्रो 354वें, ICICI बैंक 365वें, HCL टेक्नोलॉजीज 455वें, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया 499वें, अडाणी एंटरप्राइजेज 547वें और इंफोसिस 668वें स्थान पर है।

फोर्ब्स स्टेटिस्टा ने जारी की लिस्ट

फोर्ब्स ने मार्केट रिसर्च कंपनी स्टेटिस्टा के साथ मिलकर ये रैंकिंग तैयार की है। इसमें 57 देशों की 800 MNC में काम करने वाले करीब डेढ़ लाख कर्मचारियों से बात की गई है। कंपनियों को इमेज, इकोनॉमिक फुटप्रिंट, टैलेंट डेवलपमेंट, जेंडर इक्वालिटी और सोशल रिस्पांसिबिलिटी जैसे पहलुओं पर रेटिंग दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here