लोगों की फूल रहीं सासें, 300 के पार पहुंचा (AQI) !

0
168

यूपी के गाजियाबाद के लोनी मे प्रदूषण स्तर कम होने का नाम नही ले रही है बता दे कि लोगों को सासं लेने में काफी ज्यादा दिक्कत का सामना करना पढ़ रहा है और वही लोनी में प्रदूषण रोकथाम के लिए अधिकारी के द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठा गया है. खराब हवा से लोगों की सासें फूल रही है बता दे की शनिवार दोपहर एक बजे लोनी का (AQI) 334 रहा। यह सुबह करीब आठ बजे 357 दर्ज किया गया था। पिछले कई दिन से यहां की हवा बेहद खराब स्थिति में बनी हुई है। लोनी में औद्योगिक क्षेत्र, टूटी सड़कों पर उड़ती धूल, निर्माण गतिविधियां यहां की हवा को खराब करने का काम कर रही हैं। इनकी रोकथाम के लिए प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है। और छोटे-छोटे बच्चों को सांस लेने में काफी ज्यादा दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है लेकिन अधिकारी अभी तक इस पर कोई एक्शन नहीं ले रही है सबसे ज्यादा दिक्कत का सामना लोगों को करना पड़ रहा है जिन्हें सांस लेने में अक्सर समस्या रहती है। वही आपको बता दे की जिले की हवा भी 213 AQI के साथ खराब श्रेणी में बनी हुई है। एक अक्टूबर से ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान  लागू होने के बाद भी विभागीय अधिकारियों ने प्रदूषण रोकथाम के लिए ठोस इंतजाम नहीं किए हैं। बस  कागजों में ही योजना तैयार की जा रही हैं। जमीनी स्तर पर उनका कोई असर दिखाई नहीं दे रहा है। उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड समेत 20 से अधिक विभागों के अधिकारी प्रदूषण नियंत्रण नहीं कर पा रहे हैं। आपको बता दे की 1 अक्टूबर को जिले में  ग्रेप लोगू हुआ था। वही छह अक्टूबर को जिले का AQI खराब  श्रेणी में पहुंच गया था। इसके बाद ग्रेप के पहले चरण के नियम लागू हो गए थे। रोजाना सड़कों पर पानी छिड़काव, लकड़ी-कोयला जलाने वालों पर कार्रवाई, उम्र पूरी कर चुके वाहनों को सील, मानकों का उल्लंघन करने वाले औद्योगिक इकाइयों पर कार्रवाई आदि नियम लागू हैं। इसके बाद भी कार्रवाई के नाम पर खानापूरी हो रही है। जिस तरीके से कार्रवाई करनी चाहिए उसे तरीके से अधिकारी काम नहीं कर रहे हैं दिन पर दिन AQI बढ़ता ही जा रहा है और लोगों को सांस लेने में काफी ज्यादा दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है अब AQI 300 के पार पहुंच चुका है

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here