AIN NEWS 1 : बता दें श्रद्धा हत्याकांड में पुलिस ने चौंका देने वाले कई खुलासे किये है. श्रद्धा की लाश के टुकड़े करने के बाद आफताब ने दुनिया के सबसे महंगे लड़े गए मुकदमें को LIVE देखकर महीनों दिल्ली और मुंबई पुलिस को चकमा दिया. हॉलीवुड सुपर स्टार जॉनी डेप और उनकी पत्नी एम्बर हर्ड के केस को आफताब ने न सिर्फ कई बार पढ़ा बल्कि अदालत की सुनवाई को इंटरनेट पर वह लाइव देखता था.

पुलिस को आफताब की इंटरनेट सर्च हिस्ट्री ने किया दंग

आफताब के इंटरनेट सर्च हिस्ट्री को खंगालने पर कई अहम बातो का पता चला है कि श्रद्धा की हत्या के कुछ दिनों बाद जून महीने में लड़े गए दुनिया के सबसे महंगे मुकदमें को आफताब ने कई बार देखा और पढ़ा भी था. आरोपी ने इसी केस से कानून के तमाम दांव पेंच के बारे में अपनी समझ को भी बढ़ाया था. श्रद्धा की हत्या के बाद जब मुंबई पुलिस श्रद्धा की मिसिंग केस की तफ्तीश कर रही थी और आफताब से कई राउंड की पूछताछ की तो वो मुंबई पुलिस को गुमराह करने में वह कामयाब रहा था. मुंबई पुलिस के सामने उसने दावा किया था कि श्रद्धा उसे छोड़कर कही चली गई है. जिस पर मुंबई पुलिस ने भरोसा भी किया और आफताब को उस समय छोड़ दिया था.

जाने आफताब से पूछताछ में चौंकाने वाले खुलासे

दिल्ली पुलिस ने भी आफताब से श्रद्धा को लेकर कई राउंड की पूछताछ की थी जिसमें वो लगातार दिल्ली पुलिस को गुमराह करता रहा था. अब अफताब की इंटरनेट सर्च हिस्ट्री से इस बात का खुलासा हुआ कि आखिर कैसे उसने सभी कानूनी दांव पेंच के हर हथकंडे को पहले से जानने और समझने की कोशिश की थी. जिसका इस्तेमाल उसने दिल्ली-मुंबई पुलिस को जांच के दौरान उलझाने में किया.

जाने क्या था जॉनी डेप-एम्बर हर्ड केस?

हॉलीवुड सुपर स्टार जॉनी डेप की पूर्व पत्नी ने साल 2018 में एक अखबार को इंटरव्यू देकर ये दावा किया था कि वो डोमेस्टिक वॉयलेंस का ही शिकार हुई थीं. और जॉनी ने ही उनका शारीरिक और मानसिक शोषण किया था. जिसके बाद जॉनी ने अपनी पूर्व पत्नी पर मानहानि का केस किया था. ये केस पूरी दुनिया में काफ़ी ज्यादा चर्चा में रहा था. केस में 100 घंटे की गवाही भी हुई थी और जॉनी की तरफ से अदालत में काफ़ी मजबूत दलीलें दी गईं थीं. इस केस को दुनिया भर में ही लाइव देखा गया था. जिसे दिल्ली के उसी खूनी फ्लैट में बैठकर श्रद्धा की हत्या करने के बाद आफताब भी कई बार और बार बार देख रहा था. जॉनी डेप ने मानहानि के केस को जीत लिया था और हर्जाने के तौर पर उन्हें 15 मिलियन डॉलर भी मिले थे.

इसी से आफताब को ऐसे आया जंगल का आइडिया

आफताब ने पहले अपने दोस्त बद्री की छत से जंगल देखा था. तभी उसके दिमाग में आया था कि श्रद्धा की लाश को जंगल में ही ठिकाने लगाना है. श्रद्धा-अफताब को हिमाचल से दिल्ली लाने वाले बद्री के छतरपुर के फ्लैट पर आफताब, श्रद्धा की हत्या के बाद भी घूमने के लिए गया था. दरअसल बद्री के फ्लैट से जंगल बेहद करीब है. उसी जंगल को देखकर अफताब ने मन बनाया था कि श्रद्धा की बॉडी के टुकड़ों को वो उसी जंगल में ही ठिकाने लगाएगा. अफताब ने पूछताछ में खुलासा किया की हत्या करने के बाद उसने कुछ देर वही आराम किया था. उसके बाद उसी रात श्रद्धा की बॉडी के कुछ हिस्सों के टुकड़े भी किए थे और बाकी हिस्सा उसने वही छोड़ दिया था. उसके बाद अगली सुबह बॉडी के बचे हिस्सों के टुकड़े किए थे.

जान ले 5 सितारा होटल में शेफ की नौकरी कर चुका था आफताब

अफताब मुंबई के ही 5 सितारा होटल में शेफ की नौकरी भी कर चुका था. शेफ की ट्रेनिंग लेने की वजह से उसे मालूम था की किसी भी बॉडी को कैसे और किस तरह से आसानी से काटा जा सकता है. वो अलग बात है कि इस बार वो किसी जानवर का नहीं बल्कि अपनी खुद की गर्ल फ्रेंड की लाश के ही टुकड़े कर रहा था. बॉडी के टुकड़े करने के लिए उसने आरी समेत कई धारदार हथियारों का भी इस्तेमाल किया था.

उसने डेड बॉडी के टुकड़ों को 4 माह तक फ्रिज में रखा

आफताब ने आरी को गुरुग्राम में अपने दफ्तर के पास ही फेंक दिया था. उस आरी को तलाशने के लिए दिल्ली पुलिस ने उस इलाके में काफी सर्च अभियान चलाया लेकिन आरी अब तक भी बरामद नहीं हुई. पूछताछ में आफताब ने बताया कि उसने श्रद्धा की बॉडी के टुकड़ों को तकरीबन 4 महीनों तक फ्रिज में रखा था. श्रद्धा की हत्या करने के बाद वो बेहद ठंडे दिमाग से हर काम को कर रहा था. हर सबूत वह बारी बारी मिटा रहा था, श्रद्धा की बॉडी को कहां और कैसे ठिकाने लगाना है वो हर वक्त इसके बारे में ही सोचता रहता था.

उसमे श्रद्धा के लिए नहीं दिखा इमोशन

श्रद्धा और आफताब के बीच आखिरी वक्त में रिश्ते इतने खराब हो चुके थे कि दोनों के बीच एक दूसरे के लिए इमोशन बिलकुल नहीं बचे थे. पूछताछ के दौरान आफताब से जब भी श्रद्धा की हत्या को लेकर और उससे जुड़े सवाल किए गए वो एक दम आराम से ही बता रहा था कि उसने कैसे श्रद्धा को मारा. कैसे बॉडी के उसने टुकड़े किए और कैसे उसने एक -एक कर सबूत मिटाए. ये सबकुछ बताते हुए उसके चेहरे पर कोई भाव किसी भी प्रकार का नहीं था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here