150 साल पहले मरे हुए राजनेता से कर पाएंगे बात,अब आप उससे चैटिंग भी कर सकेंगे! AI Chatbot से होगा यह मुमकिन?

0
516

AIN NEWS 1: पूरी दुनिया में ही तकनीक की दुनिया में अब इंसान इतनी ज्यादा तेजी से तरक्की कर रहा है कि इस आने वाले कुछ ही सालों में ही आपकी टीवी से ही कोई व्यक्ति निकलकर बाहर आ कर आपके सामने खड़ा हो जाए, तो भी ज्यादा हैरान मत होइएगा. यह सब आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से सम्भव हो सकता है वैसे भी आज कल लोग अपने काम को हर प्रकार से आसान करने में लगे हुए हैं. लोगो द्वारा चैट बॉट बनाए जा रहे हैं जो कि इंसान की ही तरह बात करने में पूरे सक्षम है और अपने से, सवाल सुनकर प्रतिक्रिया देने में भी काफ़ी ज्यादा माहिर है. अब फेसबुक की कंपनी मेटा ने भी एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से संचालित होने वाले किसी एक खास तरह के चैटबॉट (AI chatbot) को बनाने का फैसला कर लिया है, जो अगर कामयाब हो जाता है, तो पूरी दुनिया मे लोग 150 साल पहले मर चुके दुनिया के एक प्रसिद्ध राजनेता से चैटिंग भी (Abraham Lincoln AI chatbot) कर पाएंगे!

जान ले रॉयटर्स वेबसाइट ने हाल ही में फाइनेंशियल एक्सप्रेस वेबसाइट की एक अपनी रिपोर्ट का हवाला देते हुए यह जानकारी दी है कि मेटा अब अपने सभी यूजर्स को एक प्लेटफॉर्म पर रोके रखने के लिए खास तरह की तकनीक को इजाद करने जा रही है. हाल के दिनों में मेटा को ट्विटर, टिकटॉक आदि जैसे प्लेटफॉर्म्स से भी काफी ज्यादा तगड़ा कंप्टीशन झेलने को मिल ही रहा है. ऐसे में अब उनके सामने सबसे बड़ा एक चैलेंज है, कि यूजर्स को दूसरे प्लेटफॉर्म्स पर जाने से कैसे रोका जाए.

इस तकनीक से अब्राहम लिंकन से कर सकेंगे आप चैटिंग

इस कंपनी ने अभी तक अपनी ओर से ही इस तकनीक को बनाने की आधिकारिक घोषणा तो नहीं की है. फाइनैंशियल एक्सप्रेस ने भी अपने सूत्रों के हवाले से ही इस खबर को बताया है. प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी का यह प्लान है कि वो अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति और दुनियाभर में बहुत प्रसिद्ध राजनेता अब्राहम लिंकन (Chatting with Abraham Lincoln) की आवाज वाला, एआई (Artificial Intelligence) संचालित चैट बॉट बनाएं जिससे सभी लोगों को ऐसा मेहसूस होगा कि वो 158 साल पहले मर चुके लिंकन से ही इस समय बात कर रहे हैं.

जान ले इस काम आ सकता है ये चैटबॉट

इस राजनेता की पर्सनैलिटी पर ही आधारित इस चैटबॉट के जरिए अलग-अलग विषयों पर इससे चर्चा की जा सकेगी और ये लोगों को सलाह देने के साथ साथ उन्हें किसी मुद्दे पर फैसले लेने में भी काफ़ी मदद करेगा. माना तो जा रहा है कि चैटबॉट के जरिए, यूजर्स को मेटा के एप्स पर कंटेंट को सर्च करने का भी एक नया तरीका मिलेगा. इसके जरिए इस कंपनी को पता चलेगा कि यूजर्स किस को किस तरह का कंटेंट देखना पसंद करते हैं और उन्हें वैसी ही चीजें काफी ज्यादा दिखाई जाएंगी. मेटा की ही तरह, गूगल या माइक्रोसॉफ्ट जैसी कंपनियां भी अब अपने एआई चैटबॉट बनाने में पूरी तरह से लगी हुई हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here