AAP के विधायक अमानतुलह खान को लेकर ACB ने कोर्ट में किया बड़ा दावा दुबई से बताए कनेक्शन

0
238

Ainnews1.com: वक्फ बोर्ड घोटाला मामले में आम आदमी पार्टी विधायक अमानतुल्लाह खान की रिमांड का समय अदालत ने पांच दिन और बढ़ा दिया है। वहीं, मामले की सुनवाई के दौरान एसीबी की ओर से दलील भी दी गई है कि इस मामले में लेन-देन के तार दुबई से जुड़ रहे हैं। भ्रष्टाचार निरोधक शाखा (एसीबी) ने ओर दस दिन की रिमांड बढ़ाने की मांग की थी, लेकिन अदालत ने महज पांच दिन की रिमांड अवधि बढ़ाने का निर्णय किया। अब आरोपी आप विधायक को 26 सितंबर को अदालत में पेशी की जाएगी।
राउज एवेन्यू स्थित विशेष न्यायाधीश विकास ढुल की अदालत में एसीबी ने आरोपी आप विधायक अमानतुल्लाह खान को चार दिन की रिमांड अवधि समाप्ह होने के बाद पेश किया। एसीबी की तरफ से अधिवक्ता अतुल श्रीवास्तव ने अदालत को यह बताया गया कि चार दिन की रिमांड के दौरान दो दिन तो उसकी बीमारी की शिकायत पर अस्पतालों में दिखाने में खराब हो गए। एसीबी की दलील थी कि इस मामले के संबंध दुबई से जुड़ रहे है। एसीबी ने अदालत में कहा कि लेन-देन के तार विदेशों से जुड़ रहे हैं। एसीबी ने यह भी बताया है कि अबतक की छानबीन में जीशान हैदर नाम का व्यक्ति सामने आया है। उसके साथ 17 करोड़ 60 लाख रुपये का लेन-देन किया गया है।कौशर उर्फ लड्डन की भूमिका भी सामने आई । एसीबी ने अदालत को बताया कि कौशर इमाम सिद्दकी उर्फ लड्डन को भी गिरफ्तार किया गया है। यह अमानतुल्लाह खान का बहुत करीबी है। इसके पास से हथियार और नकदी बरामद हुई है। लड्डन को 16 अक्तूबर 2021 को चार करोड़ दिए जाने के दस्तावेज बरामद हुए हैं। इतना ही नहीं एक राजनीतिक पार्टी के साथ लेन-देन हुआ है। कौशर उर्फ लड्डन ने इसकी पुष्टि भी की है। एसीबी का कहना था कि खान का सामना लड्डन से कराना है।
एसीबी ने मामले की सुनवाई के दौरान अदालत में सौ लोगों की एक सूची भी पेश की है। एसीबी ने कहा है कि इन सौ से ज्यादा लोगों से लेन-देन किया गया है। एसीबी ने कहा है कि दुबई में एक व्यक्ति के बारे में पता चला है। बचाव पक्ष के वकील राहुल मेहरा ने इस पर आपत्ति जताई। बचाव पक्ष के वकील का यह भी कहना था कि सिर्फ दुबई का नाम ले रहे हैं, लेकिन वहां के किसी व्यक्ति के नाम का खुलासा नहीं कर रहे। अगर अमानतुल्लाह का संबंध विदेश से है तो नाम खोलो। इस पर एसीबी ने कहा कि मामले में जांच जारी है। इस परिस्थिति में हम किसी के नाम का भी खुलासा नहीं किया जा सकता। एसीबी ने यह भी कहा कि जांच के लिए वक्त की जरूरत है। तफ्तीश के दौरान गवाहों के बयान लिखे जा रहे हैं साथ ही वीडियो रिकॉर्डिंग भी की जा रही है।

गाजियाबाद: कार आई और 2 युवकों को हवा में उड़ा दिया, बीच सड़क पर कर रहे थे मारा मारी


बचाव पक्ष ने अदालत में वीडियो पेश किया बचाव पक्ष की तरफ से अदालत में एक वीडियो पेश किया गया। बचाव पक्ष ने दावा किया है कि इस वीडियो मे हामिद गिरफ्तारी से पहले खुद बोलता दिखाई दे रहा है कि मेरा अमानतुल्लाह से कोई संबंध नहीं है। जबकि एसीबी का दावा है कि हामिद ने खान से लेन-देन स्वीकार किया है। साथ ही बचाव पक्ष के वकील ने वर्ष 1991 से लेकर अबतक की वक्फ बोर्ड में तमाम नियुक्तियों की सूची भी पेश की। उनका कहना था कि 80 लाख रुपये जो विधायक के खाते में आए उनका इस्तेमाल सामजिक कार्यों के लिए किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here