काश उन्हे इतनी जल्दी ना होती तो वो बंद फाटक न पार करते! वंदे भारत की चपेट में मां-दो बेटियां, तीनों की मौके पर दर्दनाक मौत!

उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक बहुत ही दर्दनाक हादसा हुआ है. यहां पर वंदे भारत ट्रेन की ही चपेट में आने से एक महिला और उसकी दो छोटी बच्चियों की एक साथ दर्दनाक मौत हो गई.

0
988

AIN NEWS 1: उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक बहुत ही दर्दनाक हादसा हुआ है. यहां पर वंदे भारत ट्रेन की ही चपेट में आने से एक महिला और उसकी दो छोटी बच्चियों की एक साथ दर्दनाक मौत हो गई. जिस समय ये पूरा हादसा हुआ, उस समय उसका पति भी वहीं पर ही मौजूद था. इस मृतक महिला का नाम चारु बताया जा रहा है और उसकी दोनों बेटियों के नाम भी चारु और इशिका बताए जा रहे हैं. वहीं, तुरंत मौके पर पहुंची पुलिस ने इन तीनों के शवों को अपने कब्जे में लेते हुए उन्हे पोस्टमार्टम के लिए भी भेज दिया है.ये पूरा हादसा थाना कंकरखेड़ा के अंतर्गत आने वाले कासमपुर रेलवे फाटक पर ही हुआ है. यहां पर वंदे भारत ट्रेन आने वाली थी, जिसकी वजह से यहां पर रेलवे फाटक बंद किए गए थे. लेकिन उसी समय नरेश अपनी पत्नी और दो बच्चियों को साथ में लेकर इस फाटक को पार करने लगा. तभी उसकी पत्नी और ये दोनों बच्चियां वंदे भारत ट्रेन की चपेट में आ गईं. ये पूरा हादसा ही इतना अचानक हुआ कि किसी को कुछ भी सोचने-समझने का मौका तक ही नहीं मिला.उस समय पति के सामने ही उसका पूरा परिवार ही मौत के आगोश में समा गया.

पुलिस द्वारा तीनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया

इन तीन लोगों की एक साथ दर्दनाक मौत के बाद मौके पर काफ़ी हड़कंप मच गया. आसपास के जमा हुए लोग भी भागे-भागे घटनास्थल पर पहुंचे. वहीं, इस सूचना पर जीआरपी भी वहा मौके पर ही आई. रेलवे के अफसरों ने इस घटना की पूरी जानकारी ली. वहीं, पुलिस ने तीनों शवों को अपने कब्जे में लेते हुए उन्हे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. कुछ देर के लिए तो मौके पर काफी ज्यादा लोगों की भीड़ भी जमा हो गई. हालांकि, जीआरपी ने वहा ट्रैक पर खड़े हुए सभी लोगों को समझा-बुझाकर मौके से हटाया.

तुरंत मौके पर ही पहुंचे पुलिस अधिकारी

इस दौरान मौके पर एसपी सिटी पीयूष सिंह भी आए. एसपी के मुताबिक ही, सिग्नल हरा था. इसलिए ही रेलवे क्रॉसिंग का फाटक भी बंद किया गया था. बावजूद इसके वो तीनों ट्रैक को पार करने की कोशिश कर रहे थे. इसी दौरान ही तीनों ट्रेन की चपेट में आ गए. पीयूष सिंह ने वहां मौजूद लोगों से भी अपील भी की कि कभी भी रेलवे फाटक बंद हो तो उसे इस तरह से पार करने की कोशिश न करें. रेलवे भी बार-बार लोगों को इसके लिए जागरूक करती रहती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here