Wednesday, July 17, 2024

Morning News Brief : UGC-NET एग्जाम रद्द, 9 लाख स्टूडेंट्स शामिल हुए थे; नालंदा यूनिवर्सिटी के नए कैंपस का उद्घाटन; गर्मी से 645 हज यात्रियों की मौत

- Advertisement -
Ads
- Advertisement -
Ads

नमस्कार,

कल की बड़ी खबर UGC-NET एग्जाम की रही, नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) की ओर से आयोजित यह एग्जाम एक दिन बाद ही रद्द कर दिया गया। NEET एग्जाम को लेकर NTA पहले से ही सवालों के घेरे में है।

लेकिन कल की बड़ी खबरों से पहले आज के प्रमुख इवेंट्स, जिन पर रहेगी नजर…

  1. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी श्रीनगर में ‘एम्पावरिंग यूथ, ट्रांसफॉर्मिंग J&K’ कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। 1500 करोड़ रुपए के 84 डेवलपमेंट प्रोजेक्ट्स की आधारशिला रखेंगे।
  2. टी-20 वर्ल्ड कप में सुपर-8 का तीसरा मुकाबला भारत और अफगानिस्तान के बीच खेला जाएगा।

अब कल की बड़ी खबरें…

UGC-NET परीक्षा रद्द: पेपर में गड़बड़ी के चलते केंद्र का फैसला

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने 18 जून को आयोजित UGC-NET परीक्षा को रद्द कर दिया है। यह परीक्षा दो शिफ्ट में पेन और पेपर मोड में हुई थी। 19 जून को गृह मंत्रालय के इंडियन साइबर क्राइम कोऑर्डिनेशन सेंटर से विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) को परीक्षा में गड़बड़ी के इनपुट्स मिले थे, जिसके बाद केंद्र सरकार ने इसे रद्द करने का निर्णय लिया और मामले की जांच CBI को सौंप दी है। अब इस परीक्षा का नया शेड्यूल जल्द ही जारी किया जाएगा।

9 लाख स्टूडेंट्स ने दी थी परीक्षा

UGC-NET परीक्षा 83 विषयों में आयोजित की गई थी और यह परीक्षा एक ही दिन में दो शिफ्ट में हुई थी। पहली शिफ्ट सुबह 9.30 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक थी, जबकि दूसरी शिफ्ट दोपहर 3 बजे से शाम 6 बजे तक थी। इस परीक्षा में 317 शहरों के 1205 सेंटर्स पर 9 लाख 8 हजार 580 छात्र शामिल हुए थे। पहली शिफ्ट में 4 लाख 73 हजार 484 और दूसरी शिफ्ट में 4 लाख 35 हजार 96 छात्र उपस्थित थे।

पहले होती थी ऑनलाइन परीक्षा

पहले UGC-NET की परीक्षा ऑनलाइन कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट (CBT) के रूप में होती थी। लेकिन इस बार परीक्षा पेन और पेपर मोड में कराई गई, ताकि सभी विषयों और सभी सेंटर्स पर परीक्षा एक ही दिन में आयोजित हो सके और दूर-दराज के सेंटर्स में भी परीक्षा कराई जा सके। UGC-NET परीक्षा का उद्देश्य देशभर की यूनिवर्सिटीज में PhD एडमिशन, जूनियर रिसर्च फेलोशिप (JRF) और असिस्टेंट प्रोफेसर के पदों के लिए योग्य उम्मीदवारों का चयन करना है।

नया परीक्षा शेड्यूल जल्द

परीक्षा रद्द होने के बाद अब नए सिरे से परीक्षा आयोजित की जाएगी। इसका नया शेड्यूल जल्द ही जारी किया जाएगा। सभी उम्मीदवारों को सलाह दी जाती है कि वे UGC और NTA की आधिकारिक वेबसाइट्स पर नियमित रूप से नजर रखें ताकि उन्हें नए शेड्यूल की जानकारी मिल सके।

 

14 खरीफ फसलों की MSP बढ़ी: धान की MSP ₹117 बढ़कर ₹2300 हुई, तुअर दाल में ₹550 का इजाफा

केंद्र सरकार ने 14 खरीफ फसलों की मिनिमम सपोर्ट प्राइस (MSP) बढ़ा दी है। धान की MSP 117 रुपए बढ़ाकर 2,300 रुपए और कपास की MSP 501 रुपए बढ़ाकर 7,121 रुपए तय की गई है। कपास की दूसरी किस्म की MSP 7,521 रुपए हो गई है, जो पहले से 501 रुपए ज्यादा है।

सरकार पर बढ़ेगा 2 लाख करोड़ रुपए का बोझ

केंद्रीय मंत्री अश्विणी वैष्णव ने कहा कि नई MSP से सरकार पर 2 लाख करोड़ रुपए का बोझ बढ़ेगा, जो पिछले फसल सीजन की तुलना में 35 हजार करोड़ रुपए ज्यादा है। उन्होंने कहा कि MSP फसल की लागत का कम से कम 1.5 गुना होनी चाहिए। साथ ही, देश में 2 लाख नए गोदाम भी बनाए जाएंगे।

क्या है MSP या मिनिमम सपोर्ट प्राइस

न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) वह गारंटीड मूल्य है जो किसानों को उनकी फसल पर मिलता है, चाहे बाजार में उस फसल की कीमतें कम ही क्यों न हों। इसका उद्देश्य यह है कि बाजार में फसलों की कीमतों में उतार-चढ़ाव का असर किसानों पर न पड़े और उन्हें न्यूनतम कीमत मिलती रहे।

MSP कैसे तय होती है

सरकार हर फसल सीजन से पहले कमीशन फॉर एग्रीकल्चर कॉस्ट एंड प्राइजेज (CACP) की सिफारिश पर MSP तय करती है। यदि किसी फसल की बंपर पैदावार होती है और बाजार में उसकी कीमतें कम हो जाती हैं, तब MSP किसानों के लिए फिक्स एश्योर्ड प्राइस का काम करती है। यह एक तरह से कीमतें गिरने पर किसानों को बचाने वाली बीमा पॉलिसी की तरह है।

 

नालंदा यूनिवर्सिटी के नए कैंपस का उद्घाटन: पीएम मोदी ने किया शुभारंभ, नीतीश कुमार से हुई बातचीत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1749 करोड़ रुपए की लागत से बने नालंदा यूनिवर्सिटी के नए कैंपस का उद्घाटन किया। अपने संबोधन में उन्होंने कहा, “आग की लपटों में पुस्तकें भले ही जल जाएं, लेकिन आग की लपटें ज्ञान को नहीं मिटा सकतीं।” इस मौके पर उन्होंने प्राचीन नालंदा विश्वविद्यालय के खंडहर भी देखे।

1600 साल बाद फिर से उद्घाटन

427 ई. में सम्राट कुमारगुप्त ने प्राचीन नालंदा विश्वविद्यालय की स्थापना की थी। 1199 ई. में बख्तियार खिलजी ने इसे नष्ट कर आग लगवा दी थी। 28 मार्च 2006 को तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम ने बिहार विधानमंडल में इसके पुनरुद्धार का विचार प्रस्तुत किया। 2007 में भारत सरकार ने नोबेल पुरस्कार प्राप्त अमर्त्य सेन के नेतृत्व में नालंदा मेंटर ग्रुप का गठन किया। 1 सितंबर 2014 को 15 छात्रों के साथ नए नालंदा यूनिवर्सिटी में पढ़ाई की शुरुआत हुई। वर्तमान में यहां 17 देशों के 400 छात्र पढ़ रहे हैं।

उद्घाटन के दौरान नीतीश कुमार और पीएम मोदी के बीच बातचीत

कैंपस के उद्घाटन कार्यक्रम में एक दिलचस्प वाकया देखने को मिला जब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अचानक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हाथ पकड़कर कुछ देखने लगे। पीएम मोदी ने मुस्कुराते हुए उनसे बात की और उनके सवाल का जवाब दिया। इस दृश्य ने प्रधानमंत्री की सुरक्षा में तैनात SPG के जवानों का भी ध्यान आकर्षित किया।

 

 

NCERT डायरेक्टर का बयान: ग्रेस मार्क विवाद के लिए काउंसिल जिम्मेदार नहीं, NTA ने किताबों के फर्क के कारण दिए ग्रेस मार्क्स

 

NCERT के डायरेक्टर दिनेश प्रसाद सकलानी ने कहा कि NEET के ग्रेस मार्क विवाद के लिए काउंसिल जिम्मेदार नहीं है। NTA ने कहा था कि NCERT की पुरानी और नई किताबों में अलग-अलग जानकारी होने की वजह से बच्चों ने फिजिक्स के सवाल का गलत उत्तर दिया। इसलिए इन बच्चों को ग्रेस मार्क्स दिए गए। NCERT के डायरेक्टर ने स्पष्ट किया, “हमारी संशोधित किताबें 2020 से ही प्रिंट और ऑनलाइन दोनों फॉर्मेट में उपलब्ध हैं। हमें नहीं पता कि सवाल बनाने वालों ने 2020 से पहले की किताबों का रेफरेंस क्यों दिया।”

NEET पेपर लीक मामला: पूछताछ जारी

NEET पेपर लीक मामले में बिहार की आर्थिक अपराध इकाई (EOU) ने पटना में दो कैंडिडेट्स से करीब ढाई घंटे पूछताछ की। इससे पहले 9 कैंडिडेट्स को पूछताछ के लिए बुलाया गया था।

पूरा मामला क्या है?

5 मई 2024 को हुई NEET में 23 लाख 30 हजार स्टूडेंट्स शामिल हुए थे। 4 जून को रिजल्ट आया, जिसमें 67 स्टूडेंट्स को पूरे 720 मार्क्स मिले। NEET के इतिहास में पहली बार इतने छात्र टॉप स्कोरर बने। इस पर कई स्टूडेंट्स ने सवाल उठाए। कई राज्यों में पेपर लीक के भी आरोप लगे, इस मामले में बिहार और गुजरात से गिरफ्तारियां भी हुई हैं।

 

 

गर्मी से हफ्ते भर में 645 हज यात्रियों की मौत: 323 मिस्र के, 68 भारतीय शामिल

सोशल मीडिया पर हज यात्रा से जुड़े वीडियो वायरल हो रहे हैं। इसमें सड़कों पर लाशें दिख रही हैं।

सऊदी अरब के मक्का में अत्यधिक गर्मी के कारण 12 जून से 19 जून के बीच 645 हज यात्रियों की मौत हुई है। मृतकों में 323 नागरिक मिस्र के, 144 इंडोनेशिया के, 68 भारत के और 60 जॉर्डन के हैं। 17 जून को मक्का की ग्रैंड मस्जिद में तापमान 51.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। पिछले साल हज के दौरान 240 लोगों की मौत हुई थी। सऊदी अरब ने सभी यात्रियों को छाते इस्तेमाल करने और लगातार पानी पीने की सलाह दी है।

कई भारतीय लापता

लापता भारतीयों की तलाश की जा रही है। मृतकों में कई बुजुर्ग तीर्थयात्री शामिल हैं। हालांकि सऊदी अरब ने हीट स्ट्रोक के कारण मरने वालों के आंकड़े पर आधिकारिक बयान नहीं दिया है। हज कमेटी ऑफ इंडिया के अनुसार, इस साल सबसे ज्यादा 1,75,000 भारतीय हज यात्रा के लिए मक्का पहुंचे हैं।

हज क्या है?

हज इस्लाम धर्म में पांच अनिवार्य कर्तव्यों में से एक है। मान्यताओं के अनुसार, हर मुस्लिम को जीवन में कम से कम एक बार हज करना चाहिए। BBC के मुताबिक, साल 628 में पैगंबर मोहम्मद ने अपने 1400 शिष्यों के साथ एक यात्रा शुरू की थी। यह इस्लाम की पहली तीर्थयात्रा बनी और इसी यात्रा में पैगंबर इब्राहिम की धार्मिक परंपरा को फिर से स्थापित किया गया। इसी को हज कहा जाता है।

 

 

जम्मू-कश्मीर में दो आतंकी मारे गए; रियासी हमले में मदद करने वाला गिरफ्तार

रियासी हमले करने में आतंकियों की मदद करने वाले हकीम-उद-दीन को को ले जाती पुलिस।

जम्मू-कश्मीर के बारामूला जिले के हादीपोरा इलाके में सुरक्षाबलों ने सर्च ऑपरेशन के दौरान दो आतंकियों को मार गिराया। पुलिस और सेना की जॉइंट टीम ने इस ऑपरेशन को अंजाम दिया। इस एनकाउंटर में स्पेशल ऑपरेशंस ग्रुप का एक जवान और एक पुलिसकर्मी घायल हो गए।

रियासी हमले में मददगार गिरफ्तार

पुलिस ने एक शख्स को गिरफ्तार किया है, जिसने 9 जून को रियासी में तीर्थयात्रियों की बस पर हुए हमले में आतंकियों की मदद की थी। इस हमले में 9 श्रद्धालु मारे गए थे और 40 घायल हुए थे। आरोपी हकीम-उद-दीन ने 6000 रुपए लेकर आतंकियों को पनाह दी थी। उसने आतंकियों को खाना दिया और हमले के स्थान तक पहुंचने का रास्ता भी बताया था।

हमला और आतंकियों की सहायता

9 जून को रियासी में तीर्थयात्रियों की बस पर हुए हमले में 9 श्रद्धालु मारे गए थे और 40 घायल हुए थे। पुलिस की जांच में पता चला कि हकीम-उद-दीन ने आतंकियों को 6000 रुपए लेकर पनाह दी, खाना मुहैया कराया और घटनास्थल तक पहुंचने का रास्ता भी बताया। इसके बाद पुलिस ने हकीम-उद-दीन को गिरफ्तार कर लिया।

 

 

रूस-उत्तर कोरिया के बीच नई डिफेंस डील: किसी भी हमले पर मिलकर करेंगे सामना

व्लादिमीर पुतिन और किम जोंग उन ने राजधानी प्योंगयांग में द्विपक्षीय समझौते पर साइन किए।

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग उन ने एक नए एग्रीमेंट पर हस्ताक्षर किए हैं। इस एग्रीमेंट के अनुसार, अगर किसी भी देश ने उत्तर कोरिया या रूस पर हमला किया तो इसे दोनों देशों पर हमला माना जाएगा और इसका जवाब दोनों देश मिलकर देंगे। रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार, इस डील को ‘एलायंस’ नाम दिया गया है। पुतिन ने किम जोंग उन को तोहफे में लग्जरी कार ऑरस भेंट की।

पुतिन का 24 साल बाद उत्तर कोरिया दौरा

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन 24 साल बाद 19 जून को उत्तर कोरिया दौरे पर पहुंचे। किम जोंग उन ने खुद एयरपोर्ट पर उनका स्वागत किया। पुतिन के साथ रूस के 10 मंत्रियों और अधिकारियों का डेलिगेशन भी था, जिसमें विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव और रक्षा मंत्री आंद्रे बेलोऊसोव शामिल थे।

- Advertisement -
Ads
AIN NEWS 1
AIN NEWS 1https://ainnews1.com
सत्यमेव जयते नानृतं सत्येन पन्था विततो देवयानः।
Ads

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Advertisement
Polls
Trending
Rashifal
Live Cricket Score
Weather Forecast
Latest news
Related news
- Advertisement -
Ads