NDA में फेल हुआ युवक तो पहन ली नकली सेना की वर्दी बन गया नकली अफसर खुली पोल आइए जाने

0
184

Ainnews1.com : इन दिनों उत्तर प्रदेश के बरेली जिले के जाट रेजिमेंट सेंटर में रिलेशन अग्निवीरो की भर्ती चल रही है. इस भर्ती दौर में दूर-दूर से अभ्यर्थी शामिल होने के लिए आ रहे हैं. इसी के साथ ही ठगों का गिरोह भी सक्रिय हो गया है. ऐसे ही सेना के एक फर्जी अफसर को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया है. बरेली के कैंट पुलिस ने सेना का अफसर बनकर घूम रहे फर्जी युवक को गिरफ्तार कर जेल भेज भी दिया.बता दें कि युवक सेना के अफसर की ड्रेस पहनकर वीरांगना चौक के पास घूम रहा था. फर्जी अफसर के पकड़े जाने के बाद सेना की इंटेलिजेंस समेत अन्य अधिकारी थाने पहुंच गए । और कानूनी प्रक्रिया पूरी करने के बाद उससे पूछताछ के बाद पुलिस ने उसे जेल भी भेज दिया.पुलिस ने बताया कि फर्जी अफसर बनकर घूम रहा युवक प्रवीण कुमार पुत्र सतेन्द्र कुमार है. ये बिहार के रोहताश जिले के शाहमुरा रोड का रहने वाला है.  इस समय बीए प्रथम वर्ष का छात्र है. बिहार के ही एसपी जैन कॉलेज से वह पढ़ाई कर रहा है. आरोपी ने अपने माता-पिता को भी नहीं बताया कि वह आर्मी में अफसर नहीं है और ऐसी ही झूठ बोल कर इधर-उधर घूमता रहता है.युवक ने बताया कि वह बरेली आकर एक होटल में भी रुका, जिसके बाद वह कैंट में जाट रेजीमेंट सेंटर में चल रही सेना भर्ती स्थल पर आ गया. यहां शक होने पर पुलिस ने उसको गिरफ्तार किया. पूछताछ में युवक ने पुलिस को बताया कि वह कारगिल चौक पर फोटो खींचकर अपने घर वालों को भेज रहा था. जिससे परिवार वालों को याकिन हो जाए कि वह आर्मी में अफसर बन गया है. इस संदर्भ में एसपी सिटी राहुल भाटी ने यह भी बताया है कि आर्मी इंटेलिजेंस और अन्य अफसरों की पूछताछ के बाद युवक को सुसंगत धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर जेल भी भेज दिया गया है.सेना की नकली यूनिफॉर्म के बारे में जब पुलिस ने युवक से पूछताछ की, तो उसने बताया कि राजधानी दिल्ली से उसने आर्मी की नकली वर्दी खरीदी थी. इसके बाद वह आर्मी अफसर की वर्दी पहन कर लोगों के यहां आने जाने लगा. और फिर लोगों को यह विश्वास हो जाए कि वह आर्मी ऑफिसर है, इसके लिए उसने अपने फोन की डिस्प्ले पर भी अफसर की वर्दी में कई फोटो लगाए थे. वहीं, अब पुलिस और आर्मी इंजेलिजेंस युवक के फोन में मिले नंबरों की भी छानबीन कर रही है. फर्जी अफसर के अन्य साथियों के बारे में जानकारी निकाली जा रही है.पुलिस को पूछताछ में प्रवीण ने बताया कि वह वर्ष 2021 में एनडीए की परीक्षा मे भी शामिल हुआ था. परीक्षा तो पास कर दी लेकिन, मेडिकल में फेल गया था. फेल होने की जानकारी उसने अपने घर में किसी को नहीं होने दी और घरवालों का एहसास दिलाने के लिए कि वह सेना में अफसर बन गया, उल्टा सेना में अफसर के पद पर सलेक्शन होने की बात कहकर प्रति माह घर वालों से रुपए भी मंगाता रहा.”थाना कैंट क्षेत्र में जाट रेजिमेंट सेंटर में अग्निवीर भर्ती परीक्षा चल रही थी. इसमें आर्मी की यूनिफॉर्म में फर्जी अधिकारी पकड़ लिया गया है. इसके पास से एक लगेज बरामद हुआ है. जिसकी चेकिंग से पता लगा कि उसमें आर्मी की और यूनिफॉर्म रखी थीं. उसके पास से दो-तीन फर्जी परिचय पत्र भी मिले हैं, जिसकी जानकारी मिलिट्री इंटेलिजेंस यूनिट से ली गई, तो पता चला कि यह सारे फर्जी हैं.”उन्होंने आगे बताया, “यह व्यक्ति बिहार का रहने वाला है. इस व्यक्ति की गिरफ्तारी कर ली गई है और मुकदमा पंजीकृत करके उसे जेल भी भेजा जा रहा है. यह व्यक्ति यहां जो अभ्यर्थी आए हैं, उनको अपने चंगुल में फंसा कर उनसे कुछ पैसे लेकर और इस तरह की घटना पारित करने के लिए आया था. सारी जानकारी इकट्ठे की जा रही है.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here