Ghaziabad : कोर्ट के आदेश पर बीजेपी विधायक और उनके पति समेत कुल आठ के खिलाफ मोदी नगर थाने मे धोखाधड़ी का केस हुआ दर्ज?

0
749

AIN NEWS 1Ghaziabad : उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले मे न्यायालय के आदेश पर कुल 270 वर्ग मीटर के प्लॉट का फर्जी तरीके से मुख्यतारनामा तैयार कर उसका बैनामा करने के मामले में मोदीनगर पुलिस ने अब मोदी नजर विधायक डॉ. मंजू शिवाच और उनके पति देविंद्र सिवाच सहित कुल आठ लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी की एक रिपोर्ट दर्ज की है। पुलिस ने इस रिपोर्ट को दर्ज कर इस मामले की विस्तृत जांच शुरू कर दी है। यहां हम आपको बता दें जनपद मेरठ स्थित थाना बह्रमपुरी क्षेत्र के नूरनगर निवासी पंकज कुमार की ओर से न्यायिक मजिस्ट्रेट गाजियाबाद को दिए गए अपने प्रार्थना पत्र के अनुसार मोदीनगर की गोविंदपुरी कॉलोनी निवासी प्रमोद कुमार जैन व रामचंद्र जैन से वर्ष 2016 में उन्होंने अपना एक कॉलोनी में 270 वर्गमीटर का प्लॉट खरीदा था। इसके बाद से प्रॉपटी डीलर हाजी वासिद के माध्यम से इस प्लॉट का उन्होने सौदा बैंक कॉलोनी निवासी विधायक डॉ. मंजू शिवाच व उनके पति डॉ. देवेंद्र शिवाच से हो भी गया। उन्होंने पंकज को इसके लिए दस लाख रुपये का भुगतान भी बैंक के माध्यम से कर दिया और उन्होने बाकी रकम बैनामा के समय देने की बात की । जिसके बाद पंकज का आरोप है कि बाद में उसे पता लगा कि इस प्लांट का कथित रूप से इनके द्वारा फर्जी मुख्यतारनामा तैयार कर वर्ष 2022 में बैनामा भी कर लिया गया है। इसके बाद पंकज ने इसकी शिकायत मोदीनगर मे पुलिस अधिकारियों से की लेकिन उसकी उन्होने रिपोर्ट ही दर्ज नहीं की। इसके बाद पंकज ने न्याय के लिए न्यायालय का सहारा लिया। अब न्यायालय ने इस मामले मे रिपोर्ट दर्ज कर कानूनी कार्रवाई का आदेश भी दिया है। इस पूरे घटनाक्रम मे एसीपी ज्ञानप्रकाश राय ने बताया कि न्यायालय के आदेश पर विधायक डॉ. मंजू शिवाच, डॉ. देवेंद्र शिवाच, बाबू निवासी किदवईनगर, रईसा और यामीन निवासी कंकरखेड़ा, हाजी वासिद निवासी इकबालनगर मेरठ,खतीजा बालैनी बागपत और मारूफ मलिक निवासी चमन पार्क नई दिल्ली के खिलाफ मे धोखाधड़ी की कई धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर इस मामले की जांच पुलिस द्वारा शुरू कर दी गई है। वहीं इस पूरे मामले मे विधायक डॉ. मंजू शिवाच का भी कहना है कि यह मामला उनके संज्ञान में आया है। किसी राजनीतिक षड़यंत्र के तहत उनका नाम इसमें घसीटा जा रहा है। उन पर व उनके पति पर लगाए गए सभी आरोप बेबुनियाद हैं। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है इसकी सच्चाई सामने आ जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here