Suchana Seth Case: क्या सूचना सेठ ने उस मासूम को बेहोश करने के लिए कफ सिरप पिलाया, मामले की जांच में हुए कई खुलासे!

0
615

AIN NEWS 1Suchana Seth Case: देश को पूरी तरह से दहला देने वाली स्टार्टअप कंपनी माइंडफुल एआई की सीईओ सूचना सेठ ने अपने उस चार साल के बेटे की बेरहमी से हत्या की तैयारी पहले से ही कर रखी थी। इस पूरे प्रकरण में गोवा पुलिस के अनुसार घटनास्थल पर मिले हुए तथ्य और पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी इस बात की पूरी तरह से गवाही दे रहे हैं। इस मामले में माना जा रहा है कि उसने पहले बच्चे तो उस छोटे बच्चे को कफ सिरप पिलाकर बेहोश कर दिया था , उसके बाद में उसने तकिया या किसी अन्य भारी कपड़े की मदद से उसका मुंह दबाकर उसकी हत्या कर दी। एक पुलिस अधिकारी ने भी बुधवार को बताया कि जिस कमरे में इस बच्चे की हत्या की गई, वहां कफ सिरप की भी दो खाली बोतलें मिली हैं। वहीं, पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक इस बच्चे की मौत दम घुटने से ही हुई है।

यह बच्चा कोई भी संघर्ष ना करें इसलिए किया था बेहोश

इस पूरे प्रकरण की सूचना से पता चलता है के चार साल का बेटा गला घोंटने की कोशिश करने पर चीख चिल्ला भी सकता था इसलिए ही उसने सोची समझी साजिश के तहत ही कफ सिरप की व्यवस्था भी की थी। एक बोतल को वह पहले से ही साथ लेकर आई थी लेकिन उसे जब लगा कि बेटे को बेहोश करने के लिए यह सिरप कम पड़ेगा तो उसने होटल के ही हाउस कीपिंग स्टाफ से एक कफ सिरप और मांगा था। स्टाफ ने बताया कि इस दौरान सूचना ने कहा था कि बेटे को बहुत ज्यादा खांसी हो रही है। पुलिस की माने तो सूचना ने इसी कफ सिरप को देकर इसलिए ही बेहोश किया क्योंकि बच्चा कोई संघर्ष करता तो उसकी पोल वही पर खुल सकती थी।

उसने कहा- नींद खुली तो बच्चा मर चुका था

इस पूरे मामले में पुलिस ने बताया कि पूछताछ में सूचना ने सिर्फ इतना कहा कि उसने बच्चे की हत्या नहीं की, उसकी जब उसकी नींद खुली, तो यह बच्चा मर चुका था। हालांकि, पुलिस को उसकी कहानी पर कोई भी भरोसा नहीं है। क्योंकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट और घटनास्थल के हालात इस पूरे प्रकरण में गवाही दे रहे हैं कि बच्चे की बेरहमी से हत्या की गई थी।

इस दौरान कमरे में मिले हुए खून के निशान सूचना के ही थे

इस बच्चे का पोस्टमार्टम कर्नाटक हिरियुर जिला अस्पताल में ही किया गया। अस्पताल के प्रशासनिक अधिकारी डॉ. कुमार नाइक ने इस संबंध में बताया कि पोस्टमार्टम के वक्त रिगॉर मोर्टिस (मरने के बाद मांसपेशियों की जकड़न) पूरी तरह से खत्म हो चुकी थी। तकिया या किसी अन्य दूसरे भारी कपड़े की मदद से ही गला घोंटकर इस बच्चे की हत्या की गई थी। पुलिस के अनुसार होटल के कमरे में ही मिले खून के निशान सूचना सेठ के ही थे। इस दौरान माना जा रहा है कि उसने पति को फंसाने के लिए ही यह पूरी साजिश रची थी। हालाकि पूछताछ में असल मकसद का तो पता नहीं चलेगा।

इस दौरान पिता ने किया अंतिम संस्कार

इस पूरे प्रकरण में वेंकट रमन ने बुधवार को ही बेटे का अंतिम संस्कार भी किया। बच्चे के पिता रमण मंगलवार रात को ही इंडोनेशिया से भारत लौटे हैं। बुधवार को ही वो चित्रदुर्ग से बच्चे के शव को बंगलुरू में लाया गया। इसके बाद राजाजी नगर के हरिश्चंद्र घाट पर ही उसका अंतिम संस्कार भी किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here