रोज़ ही हवाई जहाज से अपने ऑफिस जाता है यह शख्स, कुल 900 किलोमीटर का तय करता है सफर, बोला – ‘ये सस्ता पड़ जाता है’!

0
850

AIN NEWS 1: हर रोज अपने ऑफिस जाने के लिए हर एक कर्मचारी अपने मुताबिक ही माध्यम का चयन करता है. कुछ लोग तो अपने वाहन से ही दफ्तर जाते हैं तो कुछ लोग इसके लिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर भी भरोसा करते हैं. कुछ लोग अपने लिए एक ही साथ महीने भर के लिए कैब या ऑटो भी शेयर कर लगा लेते हैं लेकिन आज तक आपने शायद ही ऐसा सुना हो कि कोई रोज़ाना हवाई जहाज़ से अपने ऑफिस जाता हो. चलिए आपको आज हम एक ऐसे ही पत्रकार से मिलवाते हैं, जो की रोज़ फ्लाइट पकड़कर ही दफ्तर पहुंचता है.आमतौर पर ही लोग दफ्तर जाने के लिए मेट्रो, ट्रेन या फिर कैब जैसे वाहनों का ही इस्तेमाल करते हैं लेकिन वॉल स्ट्रीट जर्नल के एक रिपोर्टर जिनका नाम चिप कटर है उन्होने ये बताकर लोगों को काफ़ी हैरान कर दिया कि वो अपने ऑफिस जाने के लिए रोज़ ही फ्लाइट पकड़ते हैं. इस दौरान मज़े की बात तो ये है कि इसकी वजह से ही उस पर कोई आर्थिक भार भी नहीं पड़ता बल्कि वो तो कहता है कि ये उसके लिए काफ़ी सस्ता पड़ जाता है.

ओहियो से रोज़ न्यूयॉर्क तक जाता है यह शख्स

रिपोर्टर चिप कटर ने ही बताया कि न्यूयॉर्क में अपना काम करने के लिए सप्ताह में वह तीन बार ओहियो से उड़ान भरता है. इसके लिए वो सुबह ही 6 बजे फ्लाइट पकड़ता है और इसके लिए उसे सुबह 4 बजकर 15 मिनट का अलार्म सेट करना पड़ता है. महामारी के दौरान तो वो अपने घर से ही काम कर रहे थे और जब साल 2022 में उन्हें अपने दफ्तर जाना हुआ तो उन्होंने न्यूयॉर्क में रुकने के बजाय ओहियो से न्यूयॉर्क फ्लाइट लेकर ही जाना शुरू कर दिया. इन दोनों शहरों के बीच में दूरी 900 किलोमीटर की है और वो रोज़ाना ही ये सफर तय करते हैं. हालांकि उनकी पर्सनल लाइफ तो इससे कुछ प्रभावित हुई है लेकिन वे बताते हैं कि ये उन्हें न्यूयॉर्क में ही घर लेकर रहने से ज्यादा सस्ता है.

उन्होने बताया फ्लाइट से आना जाना रहने से सस्ता है!

चिप कटर ने इसके पीछे अपना तर्क ये दिया है कि न्यूयॉर्क में अगर वो कोई स्टूडियो फ्लैट लेकर रहता है तो उसे इसके लिए हर महीने के लिए $3,200 यानि 2,65,581 रुपये तक देने पड़ते. ऐसे में उसके लिए यह फ्लाइट का सफर इससे काफ़ी सस्ता पड़ जाता है और इससे उसकी सेविंग भी हो रही है. पहले वो मैनहट्टन में हाईएंड होटल में ही रुकता था, जो उसके ऑफिस के काफ़ी पास था लेकिन यहां भी उसके अच्छे पैसे खर्च हो रहे थे, जबकि उसका खाना-पीना भी काफ़ी प्रभावित होता था. आपको यहां बता दें कि एक और टिकटॉक यूज़र सोफिया सेलेन्टानो ने भी ऐसा ही कुछ बताया था कि वो भी प्लेन से सफर करके ही दफ्तर जाती हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here