उत्तर प्रदेश: कानपूर तीन दोस्तों ने मिलकर बनाई रील्स, लिखा दिया- ‘मर्डर कराना हो तो संपर्क करें’, पोस्ट देख पहुंची पुलिस…दो गिरफ्तार!

0
241

AIN NEWS 1: उत्तर प्रदेश में कानपुर के भीतरगांव में ही साढ़ थाने की बिरहर चौकी क्षेत्र के एक गांव में रहने वाले कुल तीन नाबालिग लड़कों ने मजाक मज़ाक में अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक ऐसी पोस्ट डाली के पूरा पुलिस डिपार्टमेंट ही हिल गया। दरअसल इसमें साफ़ लिखा हुआ था यदि मर्डर करवाना है, तो हमसे संपर्क करो। साथ ही उसमे मोबाइल नंबर भी लिखा हुआ था। जब यह पोस्ट वायरल हुई, तो पुलिस उन्हें ट्रेस करते हुए उनके घर पहुंच गई। और पूछताछ के लिए पुलिस उन्हें घर से उठा ले गई। बौहार गांव के निवासी तीन दोस्त जिनमें एक कक्षा 11, दूसरा कक्षा नौ और तीसरा अपनी पढ़ाई छोड़ चुका है। तीनों की उम्र 14-15 वर्ष के बीच में ही है। तीनों ने यह खेतों के बीच बैठकर पहले तो इंस्टाग्राम रील बनाई। बाद में तीनों ने एक साथ मे ही तस्वीर खींची।

और फिर फोन नंबर के साथ मे मर्डर कराने के लिए संपर्क करने की बात लिखकर इन्होंने पोस्ट भी डाल दी। इसके बाद पुलिस की सर्विलांस टीम ने उन्हें ट्रेस किया। उठाकर पूछताछ की तो उन्हे मजाक की बात पता चली। पुलिस ने इस मामले में तीनों किशोरों के अभिभावकों को दोबारा न मोबाइल फोन न देने की हिदायत देते हुए छोड़ा।

इन तीनों ने ही सोशल साइट पर बेखौफ होकर पोस्ट कर दी

बता दें कि यह पूरा मामला भीतरगांव इलाके के सीमावर्ती गांव बौहार का बताया जा रहा है। दरअसल, तीन दोस्त खेतों के बीच में ही बैठकर पहले रील्स बनाते रहे। इसके बाद मजाक-मजाक में तीनों ने एक साथ अपनी तस्वीर खींची और उस पर फोन नंबर के साथ मर्डर कराने के लिए संपर्क करें… लिखकर सोशल साइट पर बेखौफ होकर पोस्ट भी कर दी।

इस पोस्ट का स्क्रीनशॉट जमकर वायरल होने लगा

मर्डर का कॉन्टैक्ट लेने की पोस्ट भीतरगांव इलाके में जब बहुत ज्यादा चर्चा बनी, तो इन किशोरों ने यह पोस्ट डिलीट कर दी। लेकिन तब तक पोस्ट का स्क्रीनशॉट काफ़ी जमकर वायरल होने लगा। साइबर सेल तत्काल ही एक्टिव हो गया। मोबाइल नंबर और इस सोशल मीडिया एकाउंट को ट्रेस कर लिया। जांच में यह पूरा मामला साढ़ थाना का निकाला।

उन्हे सख्त हिदायत देकर परिजनों को सौंपासाढ़ प्रभारी निरीक्षक

इस पूरे मामले में सतीशचंद्र राठौर ने बताया कि पोस्ट तस्वीर में दिखने वाले तीनों नाबालिग दोस्त ही हैं। मजाक-मजाक में भ्रामक पोस्ट करने के बाद उसे डिलीट कर दी थी। बताया दो किशोरों को घर से इस मामले में पूछताछ के लिए लाया गया, फिर उनके परिजनों को बुलाकर मोबाइल न देने की सख्त हिदायत देकर उनके सुपुर्द कर दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here