(देखे विडियो)उत्तराखण्ड में लव जिहाद,13 और 15 साल की हिंदू लड़कियाँ हुई गायब, आरोप मुस्लिम लड़के पर: वही बच्चियों के सकुशल बरामदगी की माँग?

0
766

AIN NEWS 1: उत्तराखंड में हल्द्वानी का बनभूलपुरा इलाका। कुछ समय पहले ही अवैध जमीन कब्जे और दंगों की वजह से काफी ज्यादा चर्चा में रहा था। अब फिर वहाँ से 13 और 15 साल की 2 नाबालिग लड़कियों को जबरन बहलाफुसला कर एक मुस्लिम लड़के द्वारा भगा ले जाने का यह मामला सामने आया है, जिसके बाद वहा पर माहौल काफी ज्यादा तनावपूर्ण हो गया। इस घटना की सूचना पाकर वहा पर पुलिस थाने पहुँचे हिंदू संगठनों ने माँग की है कि जल्द से जल्द इन दोनों लड़कियों को बरामद किया जाए।मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ये पूरा मामला गुरुवार (20 जून 2024) का बताया जा रहा है। जब दोनों लड़कियों के लापता होने की सूचना वहा पर मिली । जिसकी शुरुआती जानकारी में पता चला है कि उक्त लड़कियों के साथ मोहल्ले का ही एक मुस्लिम लड़का जिस पर लोगो को शक है देखा गया है, जो उन्हें साथ लेकर ही लालकुआँ गया, जहाँ से उसके यूपी के बदायूँ जाने की भी सूचना मिल रही है। शुक्रवार (21 जून 2024) को इस मामले में लड़कियों के परिजनों और जोगेंद्र राणा के नेतृत्व में कई सारे हिंदू संगठनों ने पुलिस का घेराव किया और लड़कियों की बरामदगी की उन्होने माँग की। इस दौरान करीब 1 घंटे तक यह हंगामा चलता रहा। पुलिस द्वारा लड़कियों की जल्द ही बरामदगी के आश्वासन के बाद लोग कुछ शांत हुए।

इस दौरान बताया जा रहा है कि एक लड़की 11वीं की छात्रा है और दूसरी 9वीं कक्षा की छात्रा बताई जा रही है। ये दोनों एक ही घर में रहते हैं। 9वीं कक्षा की छात्रा का परिवार एक किराएदार है। उन्हें एक मुस्लिम लड़के ने अपनी जाल में फँसाया और लेकर उन्हे फरार हो गया। आरोपित लड़के ने एक छात्रा के भाई को पहले धमकी भी दी थी, जिसकी वजह से छात्रा के परिजन उसकी सुरक्षा की चिंता भी पुलिस से जता रहे हैं।इस मामले में बनभूलपुरा थानाध्यक्ष नीरज भाकुनी ने भी आक्रोशित लोगों को पूरा आश्वासन दिया है कि जल्द ही इन दोनों छात्राओं को सकुशल बरामद कर लिया जाएगा। लापता छात्राओं की तलाश में अब उत्तराखंड पुलिस की टीम को उत्तर प्रदेश भी भेजा गया है, जल्द ही लापता लड़कियों को पुलिस द्वारा बरामद कर लिया जाएगा। पुलिस के आश्वासन के बाद ही लोग शांत हुए हैं।

यहां हम आपको बता दें कि फरवरी 2024 में नगर निगम द्वारा सरकारी जमीन से कब्जा हटाए जाने के दौरान ही इस्लामिक कट्टरपंथियों ने जमकर हिंसा की थी। हिंसा की इन वारदातों में कुल 6 लोगों की मौत हो गई थी। इस दौरान कट्टरपंथी इस्लामिक भीड़ ने पत्थरबाजी-आगजनी जैसी घटनाओं को भी अंजाम दिया था और दर्जनों गाड़ियों को उन्होने आग के हवाले कर दिया था।

कोरियर कंपनी से बोल रहा हूं, उसके बाद 5 दिन तक डिजिटल अरेस्ट, नोएडा की एक बुजुर्ग महिला से ऐसे की गई 1.3 करोड़ की ठगी?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here