दिल्ली में सीजन में दूसरी बार सबसे खराब स्तर, 22 इलाकों में सूचकांक 300 के पार।

0
386

दिन पर दिन खराब मौसम के चक्कर में लोगों को सांस लेने में काफी ज्यादा दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है बता दे कि राजधानी में हवा इस सीजन में दूसरी बार बेहद खराब श्रेणी में पहुंच गई है. वही शनिवार को दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक यानी की एक्यूआई 304 दर्ज किया गया। इस मौसम का यह दूसरा सर्वाधिक प्रदूषित दिन रहा। बता दे आपको 22 अक्टूबर को एक्यूआई 313 दर्ज किया गया था. शुक्रवार के मुकाबले एक्यूआई 43 अंक अधिक दर्ज किया गया था और वहीं शनिवार को 22 इलाकों में हवा बेहद खराब व 14 इलाकों में खराब श्रेणी में दर्ज हुई. वही बता दे कि एनसीआर में ग्रेटर नोएडा सर्वाधिक प्रदूषित रहा। विशेषज्ञों के मुताबिक हवा की गति कम होने और पराली का धुआं घुलने से वायु गुणवत्ता खराब हो रही है।

वही आईआईटीम के मुताबिक , शनिवार को हवा उत्तर पश्चिम व उत्तर पूर्वी दिशा की ओर से चली। इस दौरान हवा की गति 4 से 8 किलोमीटर प्रतिघंटा रही। वही, सुबह के समय हल्की धुंध छाए रहने की आंशका है. सोमवार को हवा पूर्वी दिशा की ओर से चलेगी. हवा की चाल 8  किलोमीटर प्रतिघंटे रहने का अनुमान है। आपको बता दे कि शनिवार को दिल्ली में पीएम 2.5 की मात्रा लगभग 131 दर्ज की गई, जो खराब श्रेणी में है वहीं, पीएम 10 की मात्रा करीब 288 दर्ज की गई जो बेहद खराब स्तर है। साथ ही बता दे केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक, जहांगीरपुरी व वजीरपुर का एक्यूआई सर्वाधिक दर्ज किया गया। यहां वायु सूचकांक 375 व 372 दर्ज रहा जो बेहद खराब श्रेणी है। वहीं, न्यू मोती बाग में 361, आनंद विहार में 355, मुंडका में 353, बवाना में 350, द्वारका सेक्टर-8 348, नेहरू नगर में 344, शादीपुर में 345, रोहिणी में 329, आरके पुरम में 335 एक्यूआई दर्ज किया गया। पूसा में 266, आईटीओ में 261, नजफगढ़ में 287 समेत 14 इलाकों में हवा खराब रही। वही केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार दिल्ली-एनसीआर में ग्रेटर नोएडा का सबसे अधिक वायु गुणवत्ता सूचकांक दर्ज किया गया। यहां एक्यूआई 346 रहा, जो बेहद खराब श्रेणी है। फरीदाबाद में 272, गाजियाबाद में 291, नोएडा में 286 व गुरुग्राम में 252 एक्यूआई दर्ज किया गया बढ़ते प्रदूषण के चक्कर में लोगो को सांस लेने में काफी ज्यादा दिक्कत का सामना करना पढ़ रहा है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here