(देखे खौफनाक वायरल वीडियो) मंडप से दुल्हन के अपहरण का किया प्रयास, दूल्हे के घरवालों पर उड़ेला मिर्ची पाउडर;

0
820

AIN NEWS 1: आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी जिले के ही कडियाम मे एक ऐसी घटना घटी जिसे सुनकर आप भी चौंक जाएंगे। यहां पर शादी के दौरान का एक ऐसा वीडियो सोशल मीडिया पर काफ़ी ज्यादा तेजी से वायरल हो रहा है। जिस वीडियो में साफ़ देखा जा सकता है कि एक कार्यक्रम स्थल पर जब दूल्हा दुल्हन की शादी की रस्म अदायगी हो रही थी तो इस बीच ही कुछ युवक आकर दुल्हन को घसीटकर अपने साथ मे ले जाने का भरकस प्रयार करते हैं। इस दौरान दूल्हे के परिवारवाले और मेहमान जब इसका विरोध करते हैं तो उन पर आए हुए युवकों द्वारा मिर्ची पाउडर डाला जाता है। इस दौरान दुल्हन भी खुद को बचाने की लाख कोशिश करती दिखाई दे रही है, वह जमीन पर लोटती है लेकिन, युवकों का उससे भी दिल नहीं पसीजता। वे उसे निर्दयता पूर्वक अपने साथ ले जाते ही रहते हैं। इस दौरान दुल्हन काफ़ी रो रही है। हालांकि दूल्हे के घरवाले और दोस्त इस कोशिश को पूरी तरह से नाकाम कर देते हैं।आंध्र प्रदेश में शादी के जश्न के बीच मे तब चारों और कोहराम मच गया जब चचेरे भाइयों ने इस दुल्हन का अपहरण जबरन करने की कोशिश की और विरोध करने पर उन्होंने दूल्हे के घरवालों और मेहमानों के चेहरे पर मिर्ची पाउडर भी उड़ेला। इस पूरे खौफनाक घटना का एक वीडियो भी सामने आया है। लड़की इस विडियो मे चिखती-चिल्लाती रही लेकिन, चचेरे भाइयों को उस पर इस दौरान जरा भी तरस नहीं आया। इस पूरे घटनाक्रम मे दूल्हे के घरवालों ने एक मुकदमा दर्ज करवाया है। इस मामले मे बताया जा रहा है कि दुल्हन का किडनैपिंग का प्रयास किसी और ने नहीं, बल्कि उसके चचेरे भाइयों ने ही किया। बताया जा रहा है कि दुल्हन के घरवाले इस शादी के पूरी तरह से विरोध में थे। इसलिए लड़की भागकर अपने पसंद के लड़के से शादी कर रही थी। इस घटना को 21 अप्रैल का बताया जा रहा है। इस लड़की ने 13 अप्रैल को अपना घर-बार छोड़कर लड़के से मंदिर में ही शादी कर ली थी। 21 तारीख को ही दूल्हे के परिवारवाले औपचारिक विवाह भी करवा रहे थे, जिसमें बड़े पैमाने पर मेहमानों ने भी शिरकत की।

जान ले क्या है पूरा मामला ? देखे विडियो 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार, स्नेहा और वेंकटानंदु की मुलाकात नरसरावपेट जिले के ही एक कॉलेज में हुई थी। दोनों ही पशु चिकित्सा विज्ञान में डिप्लोमा कर रहे थे। दोनों के बीच मे प्यार हुआ और 13 अप्रैल को विजयवाड़ा के प्रसिद्ध दुर्गा मंदिर में ही दोनो ने शादी कर ली। शादी के बाद, लड़की वेंकटानंदु के घर रहने लगी। इसके बाद परिवार के बुजुर्गों ने इनका 21 अप्रैल को एक औपचारिक समारोह आयोजित करने का फैसला किया। स्नेहा के परिवार को भी इसके लिए सूचित किया गया और उन्हे आमंत्रित किया गया था।

इस दौरान दुल्हन के घरवालों ने शादी स्थल पर मचाया उत्पात

जब वह कार्यक्रम स्थल पर व्यवस्थाएं चल रही थीं, तो स्नेहा की मां और अन्य रिश्तेदार – जिनकी पहचान पद्मावती, चरण कुमार, चंदू और नक्का भरत के रूप में ही हुई, ने अंदर घुसकर वहां पर मौजूद मेहमानों पर मिर्च पाउडर से अचानक हमला किया और उनकी बेटी का अपहरण का प्रयास भी किया। उधर, दूल्हे, उसके परिवार और उसके दोस्तों ने जब इसका विरोध किया और अपहरण के प्रयास को विफल कर दिया। तो दूल्हे के रिश्तेदारों में से एक, वीरबाबू कथित तौर पर हमले में गंभीर रूप से घायल भी हो गए हैं और उन्हें राजामहेंद्रवरम सरकारी अस्पताल में उन्हे भर्ती कराया गया है।

इस पूरे मामले में कादियाम सर्कल इंस्पेक्टर बी तुलसीधर ने मिडिया को बताया , दूल्हा पक्ष की ओर से आपराधिक हमले, अपहरण के प्रयास और चोरी का एक मामला दर्ज कराया है। हालांकि यह अभी नहीं पता चल पाया है कि स्नेहा के घरवाले इस शादी के खिलाफ क्यों हैं?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here