भारतीय रेलवे:मालगाड़ी के पहियों के बीच बैठ गया मासूम अचानक चल पड़ी ट्रेन किया 100 किमी. का सफर, फिर RPF ने किया रेस्क्यू?

0
837

AIN NEWS 1 हरदोई. भारतीय रेलवे ट्रैक के किनारे पर ही रहने वाला एक मासूम बच्चा खेलते खेलते ट्रैक पर खड़ी हुई मालगाड़ी पर चढ़ गया. इसके बाद अचानक मालगाड़ी चल दी और वह बच्चा वापस नीचे ही नहीं उतर पाया. इस ट्रेन को हरदोई में रोक कर इस बच्चे को सकुशल रेलवे सुरक्षा बल के जवानों द्वारा उतार लिया गया. इसके बाद बच्चे से उसका नाम पता पूछने के बाद बच्चे को वहा चाइल्ड केयर हरदोई के सुपुर्द कर दिया गया है. इस बच्चे ने लगभग 100 किलोमीटर का सफर इस मालगाड़ी के दो पहियों के बीच में बैठकर ही तय किया.इस बच्चे को जब रेलवे सुरक्षा बल हरदोई ने रेस्क्यू किया तब यह बच्चा काफी ज्यादा डरा और सहमा हुआ था. बच्चे के ऊपर काफ़ी कालिख लगी हुई थी. इसके बाद रेलवे सुरक्षा बल द्वारा बच्चे को अच्छे से नहला धुलाकर भोजन भी कराया गया और बच्चे से उसके विषय में सभी जानकारी प्राप्त की गई. रेलवे के इस कार्य की लोगों ने काफ़ी जमकर सरहाना भी की. देखा गया है कि रेलवे ट्रैक के किनारे पर ही रहने वाले इस बच्चे ने खेल-खेल में ही ट्रेन पर चढ़ जाते हैं और ट्रेन चल भी देती है. ऐसे में कई बार ही इस तरह के मामले सामने आ चुके हैं.लखनऊ से रौजा को जा रही इस मालगाड़ी के नीचे दोनों पहियों के बीच की जगह पर यह बच्चा बैठ गया और ट्रेन अचानक चल पड़ी.

देखे विडियो 

लखनऊ से हरदोई तक यह बच्चा वही बैठा हुआ आ गया. इसी बीच रेलवे कार्मिक को चेकिंग के दौरान यह बच्चा दिख गया. फिर मालगाड़ी को रुकवाकर उसने बच्चे का रेस्क्यू कराया. इस बच्चे ने अपना नाम अजय पिता का नाम पूरन निवासी बालाजी मंदिर राजाजीपुरम आलमनगर लखनऊ का ही रहने वाला बताया.बच्चे ने बताया कि उसकी मां भी उसे छोड़कर कहीं चली गई है. यह बच्चा अपने पिता के साथ मे ही भीख मांग कर जीवन यापन करता है. बच्चे ने बताया कि अकेले खेलते-खेलते पड़ोस में ही खड़ी हुई मालगाड़ी के नीचे खाली जगह में यह बैठ गया और इतने मे अचानक ट्रेन चल पड़ी. रेलवे सुरक्षा बल द्वारा मालगाड़ी में बैठकर आए बच्चे को अच्छे से नहला कर भोजन कराया और मामले की जानकारी चाइल्ड हेल्पलाइन को भी दी.रेलवे सुरक्षा बल द्वारा बच्चे को बाल कल्याण समिति में ही पेश किया गया जिसके बाद इस बच्चे को बाल सुधार गृह में रखने के आदेश जारी किए गए. चाइल्ड हेल्पलाइन के प्रोजेक्ट कोऑर्डिनेटर अनूप तिवारी ने इस संबंध मे बताया कि बच्चे को बाल गृह पहुंचाया जाएगा और बच्चे की सुरक्षा और संरक्षण हेतु बाल कल्याण समिति ही निर्णय लेगी.रेलवे सुरक्षा बल द्वारा की गई इस कार्रवाई की क्षेत्र में काफ़ी जमकर प्रशंसा भी की जा रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here