युवक को दी तालिबानी सजा, निर्वस्त्र कर पेड़ से बांध दिया।

0
297

बिहार से एक बेहद दिल दहला देने वाला मामला सामने आ रहा है बता दे कि बिहार में दिन पर दिन अपराध का स्तर चरम पर है तो वहीं दूसरी तरफ कुशेश्वरस्थान में शराब माफियाओं का मनोबल फिर से बढ़ने लगा है. बता दें कि शराब माफिया बेखौफ होकर अपना कानून बना रहे हैं. समय पर शराब नहीं मिलने पर युवक को नंगा कर पीटा गया. वीडियो वायरल हो गया. इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार,  बता दे कि देर रात कुशेश्वरस्थान थाना क्षेत्र  के मसानखून पंचायत में शराब माफियाओं ने दिल दहला देने वाली घटना को अंजाम दिया.

क्या है पूरा मामला

बता दे कि बिहार के दरभंगा में शराब की डिलीवरी में बाधा बनने पर शराब माफिया ने एक युवक को तालिबानी सजा दी. शराब माफिया ने युवक को नंगा कर पेड़ से बांध दिया और फिर उसकी जमकर पिटाई की. युवक की पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. मामला जिले के कुशेश्वरस्थान का है. वायरल वीडियो में एक युवक को कुछ लोगों द्वारा लात-घूंसे से तो कोई डंडे से पिटाई कर रहा है. पीड़ित युवक रो-रोकर कह रहा है कि वह बेकसूर है. उसके बावजूद युवक की बेरहमी से पिटाई की गई. पिटाई के बाद युवक बेहोश हो गया. बता दे कि ये वायरल वीडियो कुशेश्वरस्थान थाना क्षेत्र के मसानखून पंचायत का है. वीडियो शनिवार रात का बताई जा रही  है. बताया जा रहा है कि मसानखून गांव के सुनील चौपाल उर्फ दीवाना बड़े पैमाने पर शराब और गांजा का कारोबार करता है. बता दी शनिवार की रात सुनील अपने साथियों के साथ बैठा था. तभी शराब के लिए उसके पास फोन आया. और फिर सुनील शराब पहुंचाने जाता इससे पहले गांव के एक युवक कुंदन शर्मा ने उसके मोटरसाइकिल की चाभी छुपा दी. इस वजह से सुनील समय पर शराब की डिलीवरी नहीं कर पाया.

 निर्वस्त्र कर पेड़ से बांध दिया

आपको बता दे कि सुनील का गुस्सा सातवें आसमान पर चढ़ गया. उसने अपने दूसरे साथियों को बुलाया और फिर सबने मिलकर युवक कुंदन शर्मा को रस्सी से पेड़ में बांध दिया. इससे पहले सभी ने उसे पूरी तरह नंगा कर दिया था. पेड़ से बांधने के बाद सबने मिलकर उसकी पिटाई की. इस दौरान युवक रहम की भीख मांगता रहा. लेकिन शराब कारोबारी को उसके उपर तरस नहीं ही. जिसके बाद गांव के गण्यमान्य लोगो ने गांव के मंदिर पर बैठक बुलाई जिसमें सैकड़ो ग्रामीण पहुंचे और मामला को रफा दफा करने का प्रयास किया। लेकिन किसी कारणवश मामला नही शांत हो पाया।

[video-to-gif output image]मामला को शांत करने के लिए मंगलवार शाम दुबारा बैठक बुलाई गई है। अब सवाल ये उठ रहा है कि जिस राज्य में शराबबंदी जैसी सख्त कानून व्यवस्था है. वहां शराब कारोबारी को इतनी तालिबानी हिम्मत कहां से मिलती है कि वो किसी भी आम जमता के साथ ऐसा हैवानियत कर सकें. और इतना बड़ा अपराध करने के बाद गणमान्य लोग पंचायत कर मामले को दबाने की कोशिश क्यों कर रहे हैं. और जिस व्यक्ति के साथ ये अराध हुआ है उसको न्याय दिलाने के बजाय अरोपी को बचाने की कोशिश कर रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here