शौचालय के पास बैठकर सफर करने को मजबूर है यात्री, छठ तक ट्रेनों में नहीं मिल रहा रिजर्वेशन !

0
242

त्यौहारो की सीजन का शुरुआत हो चुका है. हर कोई अपने अपने घर त्योहार बनाने जा रहे है. बता दे आपको त्योहारो के चक्कर में ट्रेनों में काफी ज्यादा भीड़ देखने को मिल रही है इतनी ज्यादा भीड़ है कि लोग ट्रेन में घुस तक नही पा रहे है साथ ही आपको बता दे कि दीपावली पर घर जाने वाले लोगों को ट्रेनों में सफर करने में दिक्कतों का सामना करना पड़ा है
बिहार और यूपी के पूर्वी जिलों में जाने वाले लोगों को रिजर्वेशन न मिल पाया तो जनरल टिकट पर सफर करना पड़ा। सीट न मिलने पर उन्हें शौचालय और कोच के दरवाजों के पास बैठकर सफर करना पड़ा। वहीं, बसें भी देर से आईं। अधिकांश लोगों ने दीपावली पर पहले से ही प्लानिंग कर ली थी लेकिन बड़ी संख्या में ऐसे लोग भी थे, जिन्हें ड्यूटी से की अवकाश मिलने का समय तय नहीं होने के कारण वह रिजर्वेशन नहीं ले पाए। प्रयागराज,वाराणसी, लखनऊ,गोरखपुर, गाजीपुर, बलिया और बिहार जाने वाली अधिकांश ट्रेनों में करीब दो महीने पहले से ही वेटिंग लिस्ट बन गई थी। लोगों ने वेटिंग टिकट लिए सोचा कि कंफर्म हो जाऐग लेकिन अंतिम समय तक वह कंफर्म नहीं हो पाए। त्योहार पर घर जाने के लिए लोगों को जनरल टिकट पर यात्रा करनी पड़ी। शुक्रवार को धनतेरस पर और शनिवार को छोटी दीपावली पर पुराना गाजियाबाद रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की जबरदस्त भीड़ रही। दिल्ली से ही ट्रेनें भरकर आ रही थीं, जैसे ही गाजियाबाद स्टेशन पर ट्रेन पहुंचीं तो जो इक्का-दुक्का सीट बची थी उसे पाने के लिए यात्रियों में मारामारी मची रही। सारे के सारे यात्री लड़ाई करना शुरु कर दिया परिवार के साथ सफर करने वाले लोगों को सबसे ज्यादा दिक्कतों का सामना करना पड़ा। नॉर्दर्न रेलवे के सीपीआरओ दीपक कुमार ने बताया कि आम दिनों में गाजियाबाद स्टेशननेस करीब एक लाख लोग यात्रा करते हैं। त्योहारों पर यह संख्या दोगुनी हो जाती है। ये कोई अबकि बार नहीं है हर साल इसी तरह से त्योहारों में लोगो की भीड़ रहती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here