5 महीने से वेतन न मिलने से नाराज सिविल डिफेंस कर्मचारियों ने किया धरना प्रदर्शन।

0
238

बता दे कि दिल्ली की डीटीसी की बसों में मार्शल के पदों पर तैनात सिविल डिफेंस के कर्मचारी सचिवालय के बाहर धरने पर बैठ गए हैं. कल सिविल डिफेंस कर्मचारियों ने जंतर मंतर पर प्रदर्शन किया था. एक दिन पहले ही सिविल डिफेंस कर्मचारियों को सचिवालय से हटा दिया गया था. आपको बता दे कि दिल्ली में सेवा समाप्त किए जाने और पांच महीने से वेतन न मिलने से नाराज सिविल डिफेंस कर्मचारियों का धरना प्रदर्शन जारी है और वही कर्मचारियों ने सोमवार को जतंर-मंतर पर प्रदर्शन करना चाहते थे, लेकिन उसके बाद दिल्ली सचिवालय के बाहर बैठ गए। साथ ही कर्मचारियों का कहना है कि जब तक हमारी मांगे नहीं पूरी होती तब तक हम धरना प्रदर्शन करते रहेगे. साथ ही प्रदर्शनकारी कर्मचारियों का कहना है कि पिछले 6 से 7 महीना से हमें वेतन नहीं मिला है. हमारे घर का खर्चा नहीं चल रहा है. हम सड़क पर आ गए हैं. सरकार हमारी मांगें नहीं सुन रही है सिर्फ सरकार हमारे साथ राजनीति कर रही है और हमें लॉलीपॉप पकड़ा दिया जा रहा है साथ ही कर्मचारियों ने कहा कि सरकार हमारी नियुक्ति प्रक्रिया को गलत बताकर सेवाएं समाप्त कर दी है। प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे मार्शल सचिन ने बताय कि एक झटके में करीब दस हजार कर्मचारी सड़क पर आ गए है

दिल्ली सरकार ने कर्मचारियों को होमगार्ड बनाने की कही बात

बता दे कि सिविल डिफेंस कर्मचारियों को लेकर राजधानी दिल्ली में सियासत गरमाई हुई है. दिल्ली सरकार ने प्रदर्शन कर रहे सिविल डिफेंस कर्मचारियों को होमगार्ड बनाने की बात कही है वही दिल्ली सरकार के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा है कि जो सिविल डिफेंस कर्मचारी प्रदर्शन कर रहे हैं. हमने उन लोग को एक प्रस्ताव भेजा है और हम इन्हें होमगार्ड की नियुक्ति देना चाहते हैं. लेकिन प्रदर्शन कर रहे सिविल डिफेंस कर्मचारियों का कहना है कि होमगार्ड की बात कहकर सिर्फ हमारे साथ राजनीति हो रही है. अभी जो हमारा प्रदर्शन करने का मुख्य मुद्दा है हमारा वेतन है, पहले हमें वेतन दिया जाए उसके बाद ही आगे कुछ किया जाएगा

प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों ने दी जानकारी

बता दे कि बाहर प्रदर्शन कर रहे सिविल डिफेंस के कर्मचारी आशु ने बताया कि, पिछले कई महीनों से हमे वेतन नहीं मिला है जिसकी वजह से घर का गुजारा करना भी काफी  मुश्किल हो रहा है. उनका कहना है कि दिल्ली सरकार ने अभी जो कहा है कि हम होमगार्ड बनाने जा रहे हैं लेकिन हमें होमगार्ड नहीं बना है सिर्फ होमगार्ड बनाने के नाम पर हमारे साथ सियासत खेली जा रही है. पहले हमारा पांच महीने का वेतन दे उसके बाद कुछ किया जाएगा. जब तक सरकार हमारै वेतन नहीं देती तब तक हम धरना प्रदर्शन करते रहेगे वहीं प्रदर्शन कर रहे  विक्रम कुमार का कहना है कि जिस आंदोलन से अरविंद केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री बने आज उसी आंदोलन से उन्हें चिढ़ हो रही है. सचिवालय के बाहर हम लोग शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे थे लेकिन दो दिन पहले ही हमें वहां से हटा दिया गया. फिर उसके बाद हम जंतर मंतर गए अब फिर से सचिवालय पर प्रदर्शन करेंगे हमारी मांग है कि हमारा जो पिछला वेतन है वह हमें दिया जाए और जो सरकार एक राजनीति चल रही है सियासत खेल रही है होमगार्ड बनाने के लिए हम होमगार्ड बनना नहीं चाहते.पहले वेतन उसके बाद होमगार्ड ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here